1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Yogi cabinet expansion : योगी मंत्रिमंडल के संभावित मंत्रियों का जानें अब तक कैसे रहा है राजनीतिक सफर

Yogi cabinet expansion : योगी मंत्रिमंडल के संभावित मंत्रियों का जानें अब तक कैसे रहा है राजनीतिक सफर

यूपी विधानसभा चुनाव(UP assembly elections ) में उतरने से पहले रविवार को योगी मंत्रिमंडल (Yogi cabinet)  में नए चेहरों को शामिल करने की तैयारी तेजी चल रही है। बताया जा रहा है कि छह से सात मंत्री शपथ ले सकते हैं। जानें संभावित मंत्रियों की कुंडली(Horoscope of Potential Ministers) ...

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव(UP assembly elections ) में उतरने से पहले रविवार को योगी मंत्रिमंडल (Yogi cabinet)  में नए चेहरों को शामिल करने की तैयारी तेजी चल रही है। बताया जा रहा है कि छह से सात मंत्री शपथ ले सकते हैं। जानें संभावित मंत्रियों की कुंडली(Horoscope of Potential Ministers) …

पढ़ें :- Yogi Cabinet में इन अहम प्रस्तावों पर लगी मुहर, अब लखनऊ, वाराणसी, कानपुर और नोएडा के ग्रामीण क्षेत्रों में भी पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू

जितिन प्रसाद

विधानसभा चुनाव में जानें से पहल कोई कसर न रहे इसको देखते हुए यह मंत्रिमंडल विस्तार काफी अहम माना जा रहा है। भाजपा जितिन प्रसाद के सहारे प्रदेश के ब्राह्मण वोट को साधने का प्रयास कर रही है। बता दें कि भाजपा सरकार से ब्राह्मण मतदाता नाराज बताए जा रहे हैं। ऐसे में भाजपा की चिंता उन्हें साधने की है। यूपी में ब्राह्मण नेता के रूप में पहचान रखने वाले जितिन प्रसाद रविवार शाम शपथ लेने के बाद योगी के मंत्रिमंडल में शामिल हो जाएंगे। बता दें कि वह पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं। वह बीते नौ जून को कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए थे। उन्हें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी की सदस्यता दिलाई थी।

पल्टूराम

पढ़ें :- Yogi Cabinet : जैव ऊर्जा और एमएसएमई की नई नीति समेत 20 प्रस्तावों पर लगी मुहर

बलरामपुर विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे पल्टूराम के भी मंत्रिमंडल में शामिल होने के आसार हैं। पल्टूराम ने वर्ष 2017 में हुए विधानसभा चुनाव बीजेपी के टिकट पर प्रथम बार विधायक निर्वाचित हुए हैं। युवावस्था से ही उन्होंने अपना राजनीतिक सफर आरंभ किया, जिसके कारण उनकी कार्यशैली से प्रभावित हो भाजपा की ओर से उन्हें विधायक का टिकट दिया। पल्टूराम वर्ष 1995 से फैजाबाद की अवध यूनिवर्सिटी से एम.ए तक की शिक्षा प्राप्त की है।

दिनेश खटीक

 

पढ़ें :- Yogi cabinet: सीएम योगी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक, इको टूरिज्म बोर्ड के गठन समेत इन प्रस्तावों पर लगी मुहर

यूपी में मेरठ जिले के निर्वाचन क्षेत्र – 45, हस्तिनापुर सीट से मार्च, 2017 में 17 वीं विधान सभा के सदस्य प्रथम बार बीजेपी के टिकट पर विधायक निर्वाचित हुए हैं। यह अनुसूचित जाति (खटीक) कोटे से विधायक हैं।

धर्मवीर प्रजापति 

धर्मवीर प्रजापति यूपी विधान परिषद के इसी साल हुए द्विवार्षिक चुनाव में भाजपा ने एमएलसी बनाया है। वे वर्तमान में माटी कला बोर्ड के अध्यक्ष हैं और संगठन के महत्वपूर्ण दायित्व संभाल चुके हैं।खंदौली के हाजीपुर खेड़ा निवासी धर्मवीर प्रजापति मूल रूप से हाथरस जिले के बहरदोई के रहने वाले हैं। उनके पिता स्व गेंदा लाल गांव में जनरल स्टोर चलाते थे और मां स्व गंगादेवी हाउस वाइफ थीं। सामान्य परिवार के धर्मवीर ने आरएसएस के स्वयंसेवक के रूप में समाज के लिए सेवा के कार्य आरंभ किए। इसके बाद उन्होंने भाजपा से अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत की। वर्ष 2002 मे पहली बार उन्हें प्रदेश का दायित्व मिला। तत्कालीन पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ में वे प्रदेश के महामंत्री बने। इसके बाद दो बार प्रदेश संगठन में मंत्री का दायित्व संभाला। जनवरी 2019 में उन्हें माटी कला बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया। अयोध्या में श्रीराम के दीपोत्सव कार्यक्रम के लिए उन्होंने आगरा, एटा, कन्नौज सहित दूसरे जिलों से डिजाइनर दिए की व्यवस्था कराई थी। इसके बाद चर्चा में रहे थे। धर्मवीर प्रजापति के दो बेटी और चार बेटे हैं।

 

छत्रपाल गंगवार

पढ़ें :- ओपी राजभर को मिला इस मौलाना का साथ, बोला- सपा के खिलाफ चलाएं आंदोलन , तंजीम उलमा इस्लाम खुला करेगी समर्थन

बहेड़ी विधानसभा से विधायक छत्रपाल गंगवार को योगी मंत्रिमंडल में शामिल करने की तैयारी चल रही है। सूचना है कि रविवार शाम तक वह मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। बता दें कि छत्रपाल गंगवार बहेड़ी विधानसभा से दूसरी बार विधायक बने हैं। मूलरूप से दमखोदा के रहने वाले छत्रपाल सिंह गंगवार पहली बार वर्ष 2007 के चुनाव में बहेड़ी सीट से विजयी होकर विधानसभा पहुंचे थे।

संजीव सिंह गोंड़ उर्फ संजय गोंड़

 

योगी मंत्रिमंडल विस्तार में ओबरा विधायक संजीव सिंह गोंड़ उर्फ संजय गोंड़ का दावा सबसे मजबूत माना जा रहा है। चर्चा है कि संजय गौड़ को भी योगी कैबिनेट में मौका मिल सकता है। संजय गोंड अनुसूचित जनजाति से आते हैं, अपनी सादगी के लिए चर्चित रहते हैं। सोनभद्र, मिर्जापुर, चंदौली समेत कई जिलों में अच्छी तादाद में मौजूद गोंड़ जाति को साधने के लिए भाजपा उन्हें मंत्री बना सकती है।

पढ़ें :- Yogi Cabinet: योगी कैबिनेट में 55 प्रस्ताव पर लगी मुहर, 18 नई नगर पंचायत का होगा गठन
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...