1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. योगी सरकार ने पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर घोषित किया, कैंप लगाकर होगा वैक्सीनेशन

योगी सरकार ने पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर घोषित किया, कैंप लगाकर होगा वैक्सीनेशन

यूपी में योगी सरकार ने कोरोना के खिलाफ जंग में पत्रकारों, जजों व सरकारी अधिकारी व कर्मचारियों को फ्रंटलाइन वर्कर घोषित किया है। अब उन्हें प्राथमिकता के आधार पर कोरोना का टीका लगाया जाएगा। बताया जा रहा है कि वैक्सीनेशन के लिए टीमें खुद जाकर संस्थानों में कैंप लगाएंगी और टीकाकरण किया जाएगा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Yogi Government Announces Journalists As Frontline Workers Camps To Be Vaccinated

लखनऊ। यूपी में योगी सरकार ने कोरोना के खिलाफ जंग में पत्रकारों, जजों व सरकारी अधिकारी व कर्मचारियों को फ्रंटलाइन वर्कर घोषित किया है। अब उन्हें प्राथमिकता के आधार पर कोरोना का टीका लगाया जाएगा। बताया जा रहा है कि वैक्सीनेशन के लिए टीमें खुद जाकर संस्थानों में कैंप लगाएंगी और टीकाकरण किया जाएगा। बता दें कि प्रदेश में एक मई से 18 वर्ष की आयु से ऊपर के सभी लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा रहा है। अब इसमें पत्रकारों को भी प्राथमिकता दी जाएगी।

पढ़ें :- भाजपा के कलियुगी राज में जीते जी न इलाज और न मरने के बाद सम्मान से अंतिम संस्कार: अखिलेश यादव

यूपी में पहले चरण में 9 हजार से अधिक सक्रिय केस वाले जिलों लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर, बरेली और मेरठ में वैक्सीनेशन किया जा रहा है। वैक्सीनेशन के लिए जिन्होंने कोविन पोर्टल या आरोग्य सेतु एप पर पंजीकरण करा लिया है, उनके लिए शुक्रवार शाम से स्लॉट ओपन कर दिया गया।

टीकाकरण प्रभारी डॉ. अजय घई ने कहा था कि 45 पार वाले लोगों का टीकाकरण पहले की तरह चलता रहेगा। पहले से बनाए गए बूथ चलते रहेंगे। 18 से 44 साल वालों के लिए अलग बूथ बनाए गए हैं। अब कुल बूथों की संख्या करीब सात हजार हो गई है।

एक करोड़ 23 लाख 55 हजार 555 लोगों को लगी वैक्सीन

30 अप्रैल तक प्रदेश में कुल एक करोड़ 23 लाख 55 हजार 555 वैक्सीन के डोज दिए जा चुके हैं। इसमें एक करोड़ एक लाख 26 हजार 798 वैक्सीन की पहली डोज और 22 लाख 28 हजार 757 दूसरी डोज शामिल है।

पढ़ें :- कोरोना को लेकर विपक्ष ने जनता में फैलाया पैनिक, लेकिन स्थिति नियंत्रण में : सीएम योगी

एक करोड़ डोज का ऑर्डर दोनों स्वदेशी वैक्सीन निर्माता कंपनियों को भेज दिया

कोरोनावायरस की चपेट में आने के बाद जो लोग नेगेटिव हो गए हैं उन्हें 15 दिन टीके के लिए इंतजार करना पड़ेगा। जिनकी आरटीपीसीआर रिपोर्ट निगेटिव है लेकिन सीटी स्कैन में कोविड के लक्षण मिले हैं। उनका भी टीकाकरण 15 दिन बाद होगा।  यूपी सरकार ने घोषणा की है कि सभी को मुफ्त कोरोना का टीका लगाया जाएगा। इसके लिए एक करोड़ डोज का ऑर्डर दोनों स्वदेशी वैक्सीन निर्माता कंपनियों को भेज दिया गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X