योगी सरकार के 3 साल पूरे, कांग्रेस ने जारी किया आरोप पत्र- अखिलेश बोले-मु​स्लिमों का हुआ उत्पीड़न

Yogi government completes 3 years

लखनऊ। योगी सरकार के तीन साल पूरे होने पर जहां कांग्रेस ने तमाम आरोप लगाते हुए आरोप पत्र जारी किया है वहीं सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने सरकार पर मुस्लिमों के साथ उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। बता दें कि कल से ही योगी सरकार ने अपने तीन साल पूरे किया और तीन साल पूरे होने के उपलक्ष्य में योगी आदित्यनाथ ने लोकभवन में आयोजित प्रेस वार्ता में अपनी तीन साल की उपलब्धियां गिनाते हुए रिपोर्ट कार्ड जारी किया था।

Yogi Government Completes 3 Years Congress Issues Charge Sheet Akhilesh Said Harassment Of Slums :

गुरुवार को कांग्रेस ने योगी सरकार के खिलाफ आरोप पत्र पेश किया है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि यूपी का किसान आज खून के आंसू रो रहा है। किसान रोज आत्महत्या कर रहा है। ओलावृष्टि में सरकार की अल्प मदद से किसानों को लाभ नहीं मिला। 3 साल में छुट्टा जानवरों के लिए कोई नीति नहीं बनाई जा सकी। फसल की लागत के सापेक्ष दाम नहीं तय किये जा सके। गेंहू, सरसो, चना का समर्थन मूल्य लागत से भी कम तय किया गया, कांग्रेस की तरफ से आराधना मिश्रा ने कहा कि यूपी में लगातार महिलाओं के साथ अत्याचार हो रहा है।

कांग्रेस की तरफ से कहा गया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में बड़े स्तर पर घोटाला हुआ है। यूपी में हर घंटे 2 नौजवान आत्महत्या करने को मजबूर हैं। 40 लाख से अधिक नौजवानों के बेरोजगार होने की बात सरकार ने मानी है। उत्तर प्रदेश में भर्तियों में बड़े स्तर पर धांधली जारी है। लाखों पद खाली होने के बावजूद भर्ती नहीं की जा सकी है। परीक्षाओं में धांधली के चलते बेरोजगारों को रोजगार नहीं मिला। कांग्रेस ने इन्वेस्टर्स समिट को सिर्फ छलावा बताया है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि यूपी लूट, हत्या, डकैती में अव्वल स्थान पर है। सरकार यूपी के जंगलराज को खत्म करने में नाकामयाब साबित हुई है।

वहीं उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी ने भी बड़ा हमला किया है। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को प्रेस कांफ्रेंस कर सरकार पर जमकर निशाना साधा। अखिलेश ने खराब स्वास्थ्य, रेप, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, नौकरी न देने में, पेड़ घोटाले में, जातिवाद को बढ़ावा देने में, जाति के आधार पर ट्रांसफर पोस्टिंग और अल्पसंख्यको के उत्पीड़न व मुसलमानों के उत्पीड़न में नम्बर वन करार दिया है। अखिलेश ने तंज कसते हुए कहा कि इनकी स्मार्ट सिटी में सिर्फ सांड हैं।

लखनऊ। योगी सरकार के तीन साल पूरे होने पर जहां कांग्रेस ने तमाम आरोप लगाते हुए आरोप पत्र जारी किया है वहीं सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने सरकार पर मुस्लिमों के साथ उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है। बता दें कि कल से ही योगी सरकार ने अपने तीन साल पूरे किया और तीन साल पूरे होने के उपलक्ष्य में योगी आदित्यनाथ ने लोकभवन में आयोजित प्रेस वार्ता में अपनी तीन साल की उपलब्धियां गिनाते हुए रिपोर्ट कार्ड जारी किया था। गुरुवार को कांग्रेस ने योगी सरकार के खिलाफ आरोप पत्र पेश किया है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि यूपी का किसान आज खून के आंसू रो रहा है। किसान रोज आत्महत्या कर रहा है। ओलावृष्टि में सरकार की अल्प मदद से किसानों को लाभ नहीं मिला। 3 साल में छुट्टा जानवरों के लिए कोई नीति नहीं बनाई जा सकी। फसल की लागत के सापेक्ष दाम नहीं तय किये जा सके। गेंहू, सरसो, चना का समर्थन मूल्य लागत से भी कम तय किया गया, कांग्रेस की तरफ से आराधना मिश्रा ने कहा कि यूपी में लगातार महिलाओं के साथ अत्याचार हो रहा है। कांग्रेस की तरफ से कहा गया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में बड़े स्तर पर घोटाला हुआ है। यूपी में हर घंटे 2 नौजवान आत्महत्या करने को मजबूर हैं। 40 लाख से अधिक नौजवानों के बेरोजगार होने की बात सरकार ने मानी है। उत्तर प्रदेश में भर्तियों में बड़े स्तर पर धांधली जारी है। लाखों पद खाली होने के बावजूद भर्ती नहीं की जा सकी है। परीक्षाओं में धांधली के चलते बेरोजगारों को रोजगार नहीं मिला। कांग्रेस ने इन्वेस्टर्स समिट को सिर्फ छलावा बताया है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि यूपी लूट, हत्या, डकैती में अव्वल स्थान पर है। सरकार यूपी के जंगलराज को खत्म करने में नाकामयाब साबित हुई है। वहीं उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी ने भी बड़ा हमला किया है। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को प्रेस कांफ्रेंस कर सरकार पर जमकर निशाना साधा। अखिलेश ने खराब स्वास्थ्य, रेप, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, नौकरी न देने में, पेड़ घोटाले में, जातिवाद को बढ़ावा देने में, जाति के आधार पर ट्रांसफर पोस्टिंग और अल्पसंख्यको के उत्पीड़न व मुसलमानों के उत्पीड़न में नम्बर वन करार दिया है। अखिलेश ने तंज कसते हुए कहा कि इनकी स्मार्ट सिटी में सिर्फ सांड हैं।