बीजेपी विधायक संगीत सोम पर दर्ज मुकदमें वापस लेने की तैयारी में योगी सरकार, मांगी गई रिपोर्ट

sangeet som
बीजेपी विधायक संगीत सोम पर दर्ज मुकदमें वापस लेने की तैयारी में योगी सरकार, मांगी गई रिपोर्ट

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के फायर ब्रांड नेता और विधायक संगीत सोम के खिलाफ दर्ज मुकदमों को योगी सरकार वापस लेने की तैयारी शुरू कर दी है। संगीत सोम पर मुजफ्फरनगर दंगों के दौरान आधा दर्जन से अधिक मुकदमें दर्ज किए गए थे। इनमें सहारनपुर और नोएडा में पंचायत करके धारा 144 का उल्लंघन तथा सरधना से कैराना के लिए पैदल मार्च निकालने पर दर्ज किया गया मुकदमा भी शामिल है।

Yogi Government Preparing To Withdraw Case Filed On Bjp Mla Sangeet Som :

अब यूपी सरकार की न्याय विभाग ने संगीत सोम के खिलाफ दर्ज मामलों के बारे मे जिला प्रशासन से आख्या मांगी है। रिपोर्ट आने के बाद कोर्ट के जरिये मुकदमे वापस लेने की कार्यवाही शुरू होगी। विधायक संगीत सोम अपने भड़काऊ और विवादित बयानों के कारण अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। सरधना के विधायक संगीत सोम मुजफ्फरनगर दंगों के बीच न्यायिक हिरासत में भी भेजे गए थे।

संगीत सोम पर देवबंद, मुजफ्फरनगर के खतौली, कोतवाली, सिखेड़ा, मेरठ और गौतमबुद्धनगर में मामले दर्ज हैं। अब प्रदेश शासन के विशेष सचिव राम बिलास सिंह ने चारों जनपदों से ‌इस संबंध में रिपोर्ट तलब की है। जिसे अब संबंधति अधिकारी तैयार कर रहे हैं। इस संबंध में संगीत सोम ने कहा कि सपा और बसपा सरकार के कार्यकाल के दौरान द्वेष के चलते मुझ पर जबरन मुकदमे दर्ज किए गए थे। इन मामलों का कोई औचित्य नहीं था।

बता दें कि, इससे पहले उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मुजफ्फरनगर दंगे के 20 और मुकदमे वापस लेने की अनुमति दे दी थी। इसके लिए बकायदा 3 शासनादेश जारी किए गए थे। योगी सरकार मुजफ्फरनगर दंगों के मामले में अब तक कुल 74 मुकदमों को वापस लेने की अनुमति दे चुकी है।

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के फायर ब्रांड नेता और विधायक संगीत सोम के खिलाफ दर्ज मुकदमों को योगी सरकार वापस लेने की तैयारी शुरू कर दी है। संगीत सोम पर मुजफ्फरनगर दंगों के दौरान आधा दर्जन से अधिक मुकदमें दर्ज किए गए थे। इनमें सहारनपुर और नोएडा में पंचायत करके धारा 144 का उल्लंघन तथा सरधना से कैराना के लिए पैदल मार्च निकालने पर दर्ज किया गया मुकदमा भी शामिल है। अब यूपी सरकार की न्याय विभाग ने संगीत सोम के खिलाफ दर्ज मामलों के बारे मे जिला प्रशासन से आख्या मांगी है। रिपोर्ट आने के बाद कोर्ट के जरिये मुकदमे वापस लेने की कार्यवाही शुरू होगी। विधायक संगीत सोम अपने भड़काऊ और विवादित बयानों के कारण अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। सरधना के विधायक संगीत सोम मुजफ्फरनगर दंगों के बीच न्यायिक हिरासत में भी भेजे गए थे। संगीत सोम पर देवबंद, मुजफ्फरनगर के खतौली, कोतवाली, सिखेड़ा, मेरठ और गौतमबुद्धनगर में मामले दर्ज हैं। अब प्रदेश शासन के विशेष सचिव राम बिलास सिंह ने चारों जनपदों से ‌इस संबंध में रिपोर्ट तलब की है। जिसे अब संबंधति अधिकारी तैयार कर रहे हैं। इस संबंध में संगीत सोम ने कहा कि सपा और बसपा सरकार के कार्यकाल के दौरान द्वेष के चलते मुझ पर जबरन मुकदमे दर्ज किए गए थे। इन मामलों का कोई औचित्य नहीं था। बता दें कि, इससे पहले उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मुजफ्फरनगर दंगे के 20 और मुकदमे वापस लेने की अनुमति दे दी थी। इसके लिए बकायदा 3 शासनादेश जारी किए गए थे। योगी सरकार मुजफ्फरनगर दंगों के मामले में अब तक कुल 74 मुकदमों को वापस लेने की अनुमति दे चुकी है।