1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. औरैया जिले में शिक्षक की पिटाई से दलित छात्र की मौत मामले में योगी सरकार करें प्रभावी कार्रवाईः मायावती

औरैया जिले में शिक्षक की पिटाई से दलित छात्र की मौत मामले में योगी सरकार करें प्रभावी कार्रवाईः मायावती

बहुजन समाज पार्टी (BSP) सुप्रीमो व यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Mayawati) ने मंगलवार को ट्वीट कर योगी सरकार (Yogi Government) से औरैया जिले (Auraiya District) की घटना पर उचित कार्रवाई की मांग की है।  मायावती (Mayawati)  ने कहा कि प्रदेश के औरैया जिले (Auraiya District)  में शिक्षक की पिटाई से दलित छात्र की मौत पर सरकारी उदासीनता व लापरवाही का मामला काफी तूल पकड़ता जा रहा है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (BSP) सुप्रीमो व यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Mayawati) ने मंगलवार को ट्वीट कर योगी सरकार (Yogi Government) से औरैया जिले (Auraiya District) की घटना पर उचित कार्रवाई की मांग की है।  मायावती (Mayawati)  ने कहा कि प्रदेश के औरैया जिले (Auraiya District)  में शिक्षक की पिटाई से दलित छात्र की मौत पर सरकारी उदासीनता व लापरवाही का मामला काफी तूल पकड़ता जा रहा है। इंसाफ व उचित कार्रवाई के अभाव में लोग काफी आक्रोशित हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ऐसे संगीन मामलों को रफादफा करने के बजाय तुरन्त प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित करे, बीएसपी की यह मांग।

पढ़ें :- Auraiya News : धर्म परिवर्तन दवाब का मामला, शहजाद दीपक बनकर सपना से की शादी,पुलिस को दी तहरीर

मायावती (Mayawati)   ने कहा कि साथ ही, यूपी में दलितों, गरीबों, मजलूमों व अल्पसंख्यकों आदि के साथ-साथ महिलाओं की असुरक्षा का मामला भी काफी चर्चाओं में है। महिला पुलिसकर्मियों के विरुद्ध थाना में शोषण व अन्याय की खबरें भी लगातार सुर्खियों में हैं, जो सरकार के कानून-व्यवस्था के दावे को गलत साबित करती हैं।

पढ़ें :- मायावती का हमला, कहा-सपा और BJP से बेहतर काम BSP सरकार में हुए

यूपी के औरैया जिले में 15 वर्षीय एक दलित छात्र की सोमवार की सुबह मौत हो गई। करीब बीस दिन पहले उसे कथित तौर पर एक शिक्षक ने पिटाई कर दी थी। शिक्षक फरार है। उस पर जिस पर आईपीसी की धारा 308 (गैर इरादतन हत्या का प्रयास), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना) और 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान), साथ ही साथ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (प्रिवेंशन ऑफ एट्रोसिटीज एक्ट) लगाया गया है।

छात्र की मौत के बाद औरैया में हिंसक विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया था। आक्रोशित लोगों ने पुलिस की दो गाड़ियों में आग लगा दी और दो निजी वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। छात्र के शव को पोस्टमार्टम के बाद जब लाया गया तो प्रदर्शनकारी उसे स्कूल के बाहर रखकर नारेबाजी शुरू कर दी। उन्होंने कथित तौर पर इलाके में मौजूद पुलिस वालों पर पथराव भी किया। बाद में अतिरिक्त पुलिस बल को मौके पर भेजा गया।

कानपुर जोन के अतिरिक्त महानिदेशक भानु भास्कर (Additional Director General of Kanpur Zone Bhanu Bhaskar) ने कहा कि स्थिति का जायजा लेने के लिए वरिष्ठ पुलिस और जिला स्तरीय अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है। पुलिस ने कहा कि लड़के के परिवार अंतिम संस्कार के लिए उसके शव को अपने गांव ले गए हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...