योगी सरकार 26 जून को बनायेगी इस मामले में रिकॉर्ड, उत्तर प्रदेश बनेगा पहला राज्य

CM Yogi
योगी सरकार 26 जून को बनायेगी इस मामले में रिकॉर्ड, उत्तर प्रदेश बनेगा पहला राज्य

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रोजगार के मामले में बड़ा कदम उठाने जा रहे हैं। 26 जून को सीएम योगी एक साथ एक करोड़ लोगों को रोजगार देकर नया रिकॉर्ड बनायेंगे। पीएम मोदी की मौजूदगी में यह रोजगार दिया जायेगा। सीएम योगी की पहल से उत्तर प्रदेश एक करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार देने वाला देश का पहला राज्य बनेगा।

Yogi Government To Set Record In This Case On 26th June Uttar Pradesh Will Become First State :

इसी दिन एमएसएमई इकाइयों को कर्ज भी दिया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अधिकारियों के साथ बैठक करके इस मामले की समीक्षा की। प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम की स्वीकृति दे दी है। लॉकडाउन के बाद से प्रधानमंत्री पहली बार किसी राज्य से जुड़े ऐसे किसी आयोजन में शिरकत करेंगे।

मुख्यमंत्री ने इसके लिए राज्य में प्रवासी कामगारों के आने के साथ ही स्किल मैपिंग का काम कराना शुरू करा दिया था। योगी सरकार के पास 36 लाख प्रवासी कामगार का पूरा डेटा बैंक मैपिंग के साथ तैयार है। योगी सरकार इन कामगारों को एमएसएमई, एक्सप्रेस वे, हाइवे, यूपीडा, मनरेगा आदि क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार से जोड़ भी चुकी है।

अब ये आंकड़ा एक करोड़ के पार पहुंचने वाला है। प्रदेश में एमएसएमई इकाई से क्षमता बढ़ाने और खुद को तकनीकी रूप से अपग्रेड करने के लिए 5 मई को 57 हजार से अधिक इकाईयों को ऑनलाइन लोन दिया गया। 26 जून के कार्यक्रम में भी एमएसएमई को लोन दिया जाएगा।

 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रोजगार के मामले में बड़ा कदम उठाने जा रहे हैं। 26 जून को सीएम योगी एक साथ एक करोड़ लोगों को रोजगार देकर नया रिकॉर्ड बनायेंगे। पीएम मोदी की मौजूदगी में यह रोजगार दिया जायेगा। सीएम योगी की पहल से उत्तर प्रदेश एक करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार देने वाला देश का पहला राज्य बनेगा। इसी दिन एमएसएमई इकाइयों को कर्ज भी दिया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अधिकारियों के साथ बैठक करके इस मामले की समीक्षा की। प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम की स्वीकृति दे दी है। लॉकडाउन के बाद से प्रधानमंत्री पहली बार किसी राज्य से जुड़े ऐसे किसी आयोजन में शिरकत करेंगे। मुख्यमंत्री ने इसके लिए राज्य में प्रवासी कामगारों के आने के साथ ही स्किल मैपिंग का काम कराना शुरू करा दिया था। योगी सरकार के पास 36 लाख प्रवासी कामगार का पूरा डेटा बैंक मैपिंग के साथ तैयार है। योगी सरकार इन कामगारों को एमएसएमई, एक्सप्रेस वे, हाइवे, यूपीडा, मनरेगा आदि क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार से जोड़ भी चुकी है। अब ये आंकड़ा एक करोड़ के पार पहुंचने वाला है। प्रदेश में एमएसएमई इकाई से क्षमता बढ़ाने और खुद को तकनीकी रूप से अपग्रेड करने के लिए 5 मई को 57 हजार से अधिक इकाईयों को ऑनलाइन लोन दिया गया। 26 जून के कार्यक्रम में भी एमएसएमई को लोन दिया जाएगा।