1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. नवजात कन्या ‘गंगा’ का पालन पोषण की जिम्मेदारी योगी सरकार ने ली, दिया ये बड़ा निर्देश

नवजात कन्या ‘गंगा’ का पालन पोषण की जिम्मेदारी योगी सरकार ने ली, दिया ये बड़ा निर्देश

यूपी के सीएम योगी ने मां गंगा की गोद में मिली 21 दिन की मासूम ‘गंगा’ के पालन पोषण की जिम्मेदारी अधिकारियों को दी है। योगी कहा कि चिल्ड्रेन होम में सरकारी खर्चे पर अच्छे से नवजात ‘गंगा’ का लालन-पालन किया जाए। जिलाधिकारी समेत संबंधित विभाग पूरी सहायता करें । इसके साथ ही सीएम योगी ने नवजात को बचाने वाले नाविक को तत्काल सरकारी आवास समेत सभी सरकारी सहायता देने के दिए निर्देश हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। यूपी के सीएम योगी ने मां गंगा की गोद में मिली 21 दिन की मासूम ‘गंगा’ के पालन पोषण की जिम्मेदारी अधिकारियों को दी है। योगी कहा कि चिल्ड्रेन होम में सरकारी खर्चे पर अच्छे से नवजात ‘गंगा’ का लालन-पालन किया जाए। जिलाधिकारी समेत संबंधित विभाग पूरी सहायता करें । इसके साथ ही सीएम योगी ने नवजात को बचाने वाले नाविक को तत्काल सरकारी आवास समेत सभी सरकारी सहायता देने के दिए निर्देश हैं।

पढ़ें :- शारदीय नवरात्रों को लेकर सीएम योगी ने जारी किया सख्त निर्देश

चुनरी में लिपटी मिली थी नवजात कन्या ‘गंगा’

यूपी के गाजीपुर से निकलकर सामने आई है, जिसे सुनकर कर किसी का दिल दहल जाएगा। चुनरी में लिपटी थी नवजात। बता दें कि मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के ददरी घाट का है। बताया जा रहा है कि ददरी घाट पर गंगा किनारे एक लकड़ी के बॉक्स से एक नाविक ने किसी बच्चे की रोने की आवाज सुनी। उसने पास जाकर देखा तो लकड़ी के बॉक्स के अंदर से किसी बच्चे के रोने की आवाज आ रही थी, तब तक घाट पर मौजूद कुछ लोग भी जुट गए। लोगों ने बॉक्स को खोला तो दंग रह गए।

लकड़ी के बॉक्स में चुनरी में लिपटी एक मासूम बच्ची थी, जो रो रही थी। हैरत की बात यह थी कि बॉक्स में देवी दुर्गा और भगवान विष्णु का चित्र भी चिपका हुआ था, साथ ही एक जन्मकुंडली भी थी, जो शायद बच्ची की हो। जन्मकुंडली में बच्ची का नाम गंगा लिखा है। यहां गंगा नदी में बहते एक लकड़ी के बक्से में 21 दिन की मासूम बच्ची मिली है। बताया जा रहा है कि गाजीपुर के सदर कोतवाली इलाके के ददरी घाट के किनारे गंगा में बहते बक्से से बच्ची के रोने की आवाज आ रही थी।

आवाज सुनकर जब एक नाविक ने उसे खोला तो वह हैरान रहा गया। बक्‍से में देवी-देवताओं के फोटो और जन्मकुंडली के साथ एक मासूम बच्ची चुनरी में लिपटी थी। इसके बाद पुलिस को इसकी सूचना दी गई। पुलिस ने लावारिश बच्ची को आशा ज्योति केंद्र पहुंचाया है और जांच में जुटी है। मासूम बच्ची पूरी तरह स्वस्थ बताया जा रहा है कि लकड़ी के बॉक्स में मिली मासूम को नाविक अपने घर ले गया। उसके परिजन बच्ची को पालना चाहते थे, लेकिन स्थानीय लोगों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। सूचना पर पुलिस टीम नाविक के घर पहुंची और बच्ची को आशा ज्योति केंद्र ले गयी, जहां मासूम का पालन पोषण किया जा रहा है। मासूम बच्ची पूरी तरह स्वस्थ और सुरक्षित बतायी जा रही है।

पढ़ें :- CM योगी के मंदिर पर अखिलेश का तंज, कहा-दिल्ली से विशेष दस्ता आयेगा या फिर... 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...