किसानों की जान बचाने पर नहीं विपक्षी नेताओं को परेशान करने पर योगी सरकार का ध्यान: अखिलेश यादव

Akhilesh Yadav, अखिलेश यादव
किसानों की जान बचाने पर नहीं विपक्षी नेताओं को परेशान करने पर योगी सरकार का ध्यान: अखिलेश यादव

लखनऊ। सपा सरकार में मंत्री रहे मो. आजम खां पर भर्ती घोटाले के आरोप लगने के बाद सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को लखनऊ स्थित सपा प्रदेश कार्यालय पर प्रेसवार्ता कर यूपी की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। इस दौरान उन्होनें कहा कि भाजपा सरकार सिर्फ आरोप लगाने का काम कर रही है। जितने भी आरोप विपक्षी पार्टी के नेताओं पर लगाती है, बाद में वे सभी निराधार साबित होते हैं। जेपी एनआईसी और एक्सप्रेस वे की जांच सरकार ने कराई, लेकिन उसे कुछ नहीं मिला। सरकार का ध्यान आए दिन आत्महत्या कर रहे शिक्षामित्रों और किसानों पर होना चाहिए, लेकिन वह विपक्षी नेताओं को परेशान करने में लगी है।

Yogi Government Torturing Opposition Leaders Says Akhilesh Yadav :

उन्होने आजम खां पर यूपी जल निगम की भर्ती में लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को निराधार बताया और पूरी कवायद को विपक्षी नेताओं को परेशान करने की कोशिश करा दिया। उन्होंने कहा कि शिक्षा मित्र व किसान आत्महत्या कर रहे हैं और योगी सरकार विपक्षी पार्टी के नेताओं पर खोज — खोज कर आरोप लगाने में लगी है। उन्होंने बताया कि महोबा जिले में 27 किसानों ने क़र्ज़माफी के इंतज़ार में जान दे दी, इसके बावजूद भी उनके परिवारों को किसी प्रकार की कोई मदद नहीं दी गई। जिन किसानों का कर्ज माफ किया गया था, अब उसकी रिकवरी की जा रही हैं।

इसके बाद उन्होंने शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यानाथ द्वारा एलिवेटेड रोड के उद्घाटन पर तंज कसते हुए कहा कि जब उनकी सरकार किसी प्रोजेक्ट का शुभारंभ करती थी, तो भाजपा के लोग कहते थे कि अपने लिए बनाए गए हैं। आज भाजपा सत्ता में आने के बाद उन्हीं प्रोजेक्टों के पूरा होने पर उद्घाटन कर श्रेय लेने में लगी है। बनारस में वरुणा नदी को साफ कराने का काम भी सपा सरकार में शुरू हुआ था, सपा ​सरकार के दौरान शुरू हुए लखनऊ मेट्रो, एलिवेटेड रोड, ताजमहल पार्किंग को लेकर बवाल किए गए थे, लेकिन अब इन प्रोजेक्टों का उद्घाटन शोर शराबे के साथ किया जा रहा है।

अखिलेश यादव ने सीएम योगी द्वारा डिफेंस कॉरिडोर बनाने को लेकर किए गए दावे पर सवाल करते हुए पूछा है कि पिपराघाट पर पुल कब बनेगा, कुकरैल पुल कब बनेगा ?

आगरा एक्सप्रेस पर पूछे गए एक सवाल के बाद अखिलेश यादव ने कहा कि आगरा एक्सप्रेस वे को लेकर लगातार सरकार जंक्शन की बात कर रही थी, लेकिन उस पर भारी भरकम हरकुलिस विमान उतर गया। इससे यह सिद्ध होता है कि आगरा एक्सप्रेस वे देश का सबसे मजबूत एक्सप्रेस वे है, जिससे अब सरकार ने कमाना भी शुरू कर दिया है।

भाजपा सरकार में दलित वर्ग पर अन्याय बढ़ा—

प्रेसवार्ता के दौरान अखिलेश यादव भाजपा पर जातिवाद और दलितों के उत्पीड़न को लेकर भी हमलावर होते नजर आए उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में ​दलित वर्ग के साथ अन्याय हो रहा है। अखिलेश यादव के इस हमले को सपा और बसपा के बीच बढ़ती करीबी के असर के रूप में देखा जा रहा है।

कहां है परिवारवाद—

समाजवादी पार्टी पर लगने वाले परिवारवाद के आरोपों का खण्डन करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि एलिवेटिड रोड में परिवारवाद कहां है ? उन्होंने कहा कि परिवारवाद को लेकर समाजवादी पाटी कई बार जनता के बीच परीक्षा भी दे चुकी है।

राजा भैया पर दिया बयान —

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने करीब एक दशक से सपा समर्थक रहे राजा भैया को लेकर भी गंभीर बयान दिया है। उन्होंने ने राजा भैया को अपने बारे में सोचकर ये पता करने को कहा है कि वह आजकल कहां हैं? अखिलेश यादव का यह बयान पत्रकारों के सवाल के उस जवाब के रूप में आया जिसमें उनसे राजा भैया के साथ होने को लेकर सवाल किया गया था।

लखनऊ। सपा सरकार में मंत्री रहे मो. आजम खां पर भर्ती घोटाले के आरोप लगने के बाद सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को लखनऊ स्थित सपा प्रदेश कार्यालय पर प्रेसवार्ता कर यूपी की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। इस दौरान उन्होनें कहा कि भाजपा सरकार सिर्फ आरोप लगाने का काम कर रही है। जितने भी आरोप विपक्षी पार्टी के नेताओं पर लगाती है, बाद में वे सभी निराधार साबित होते हैं। जेपी एनआईसी और एक्सप्रेस वे की जांच सरकार ने कराई, लेकिन उसे कुछ नहीं मिला। सरकार का ध्यान आए दिन आत्महत्या कर रहे शिक्षामित्रों और किसानों पर होना चाहिए, लेकिन वह विपक्षी नेताओं को परेशान करने में लगी है।उन्होने आजम खां पर यूपी जल निगम की भर्ती में लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को निराधार बताया और पूरी कवायद को विपक्षी नेताओं को परेशान करने की कोशिश करा दिया। उन्होंने कहा कि शिक्षा मित्र व किसान आत्महत्या कर रहे हैं और योगी सरकार विपक्षी पार्टी के नेताओं पर खोज — खोज कर आरोप लगाने में लगी है। उन्होंने बताया कि महोबा जिले में 27 किसानों ने क़र्ज़माफी के इंतज़ार में जान दे दी, इसके बावजूद भी उनके परिवारों को किसी प्रकार की कोई मदद नहीं दी गई। जिन किसानों का कर्ज माफ किया गया था, अब उसकी रिकवरी की जा रही हैं।इसके बाद उन्होंने शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यानाथ द्वारा एलिवेटेड रोड के उद्घाटन पर तंज कसते हुए कहा कि जब उनकी सरकार किसी प्रोजेक्ट का शुभारंभ करती थी, तो भाजपा के लोग कहते थे कि अपने लिए बनाए गए हैं। आज भाजपा सत्ता में आने के बाद उन्हीं प्रोजेक्टों के पूरा होने पर उद्घाटन कर श्रेय लेने में लगी है। बनारस में वरुणा नदी को साफ कराने का काम भी सपा सरकार में शुरू हुआ था, सपा ​सरकार के दौरान शुरू हुए लखनऊ मेट्रो, एलिवेटेड रोड, ताजमहल पार्किंग को लेकर बवाल किए गए थे, लेकिन अब इन प्रोजेक्टों का उद्घाटन शोर शराबे के साथ किया जा रहा है।अखिलेश यादव ने सीएम योगी द्वारा डिफेंस कॉरिडोर बनाने को लेकर किए गए दावे पर सवाल करते हुए पूछा है कि पिपराघाट पर पुल कब बनेगा, कुकरैल पुल कब बनेगा ?आगरा एक्सप्रेस पर पूछे गए एक सवाल के बाद अखिलेश यादव ने कहा कि आगरा एक्सप्रेस वे को लेकर लगातार सरकार जंक्शन की बात कर रही थी, लेकिन उस पर भारी भरकम हरकुलिस विमान उतर गया। इससे यह सिद्ध होता है कि आगरा एक्सप्रेस वे देश का सबसे मजबूत एक्सप्रेस वे है, जिससे अब सरकार ने कमाना भी शुरू कर दिया है।

भाजपा सरकार में दलित वर्ग पर अन्याय बढ़ा—

प्रेसवार्ता के दौरान अखिलेश यादव भाजपा पर जातिवाद और दलितों के उत्पीड़न को लेकर भी हमलावर होते नजर आए उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में ​दलित वर्ग के साथ अन्याय हो रहा है। अखिलेश यादव के इस हमले को सपा और बसपा के बीच बढ़ती करीबी के असर के रूप में देखा जा रहा है।

कहां है परिवारवाद—

समाजवादी पार्टी पर लगने वाले परिवारवाद के आरोपों का खण्डन करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि एलिवेटिड रोड में परिवारवाद कहां है ? उन्होंने कहा कि परिवारवाद को लेकर समाजवादी पाटी कई बार जनता के बीच परीक्षा भी दे चुकी है।

राजा भैया पर दिया बयान —

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने करीब एक दशक से सपा समर्थक रहे राजा भैया को लेकर भी गंभीर बयान दिया है। उन्होंने ने राजा भैया को अपने बारे में सोचकर ये पता करने को कहा है कि वह आजकल कहां हैं? अखिलेश यादव का यह बयान पत्रकारों के सवाल के उस जवाब के रूप में आया जिसमें उनसे राजा भैया के साथ होने को लेकर सवाल किया गया था।