1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Yogi Government ने बेटियों के हक़ में लिया बड़ा फैसला, कैबिनेट बाई सर्कुलेशन इस प्रस्ताव को दी स्वीकृति

Yogi Government ने बेटियों के हक़ में लिया बड़ा फैसला, कैबिनेट बाई सर्कुलेशन इस प्रस्ताव को दी स्वीकृति

उत्तर प्रदेश सरकार (Government of Uttar Pradesh) ने राज्य की बेटियों के लिए एक बड़ा फैसला किया है। दरअसल, मृतक आश्रित कोटे (Deceased Dependent Quota) से अब शादीशुदा बेटियां भी सरकारी नौकरी की हकदार होंगी। आपको बता दें, सीएम योगी ने बीते दिन (बुधवार) कैबिनेट बाई सर्कुलेशन (Cabinet by Circulation) इस प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी है।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार (Government of Uttar Pradesh) ने राज्य की बेटियों के लिए एक बड़ा फैसला किया है। दरअसल, मृतक आश्रित कोटे (Deceased Dependent Quota) से अब शादीशुदा बेटियां भी सरकारी नौकरी की हकदार होंगी। आपको बता दें, सीएम योगी ने बीते दिन (बुधवार) कैबिनेट बाई सर्कुलेशन (Cabinet by Circulation) इस प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी है।

पढ़ें :- योगी जी के सपने को पलीता लगाते विधायक, 'जल जीवन मिशन' में काम कर रही कंपनी से मांग रहे रंगदारी

राज्य में अभी तक मृतक आश्रित कोटे के तहत अनुकंपा के आधार पर पुत्र, विवाहित पुत्र व अविवाहित पुत्रियों को नौकरी देने की व्यवस्था थी, लेकिन विवाहित पुत्रियों के लिए प्रावधान न होने पर उन्हें मृतक आश्रित कोटे पर अनुकंपा के आधार पर नौकरियां नहीं मिल पा रही थीं।

कई मामले तो ऐसे भी सामने आए जहां इकलौती शादीशुदा बेटी होने के कारण परिवारों को समस्याओं का सामना करना पड़ जाता था। इस प्रकार के मामले अदालत तक भी पहुंचे। आपको बता दें, जिसके बाद सीएम योगी (CM Yogi) ने मामले का संज्ञान लिया और पुरानी व्यवस्था में बदलाव करने पर सहमति बनी कि कुटुंब की परिभाषा में विवाहित पुत्रियों को भी जोड़ दिया जाए।

इसके आधार पर कार्मिक विभाग (Personnel Department) ने उत्तर प्रदेश सेवाकाल (Uttar Pradesh Service) में मृत सरकारी सेवकों (dead government servants) के आश्रितों की भर्ती (बारहवां संशोधन) नियमावली-2021 को मंत्रिमंडल की स्वीकृति के लिए भेजा था। सीएम योगी ने इस प्रस्ताव को कैबिनेट बाई सर्कुलेशन मंजूरी दे दी है।

पढ़ें :- UP News: नवगठित कमिश्नरेट में अफसरों की तीन दिन बाद भी तैनाती नहीं, कई बैठकों के बाद भी नहीं हुआ निर्णय
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...