कोरोना की चेन तोड़ने के लिए योगी सरकार की बड़ी पहल, घर-घर होगी कोरोना की स्क्रीनिंग

cm yogi
सीएम योगी दो दिवसीय दौरे पर, कोविड-19 को लेकर करेंगे समीक्षा बैठक

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार कोरोना की चेन तोड़ने के लिए बड़ी मुहिम चलाने जा रही है। इस मुहिम की शुरूआत मेरठ मंडल से कर दी गयी है। इसके तहत यूपी के 17 मंडलों में अब घर-घर लोगों की स्क्रीनिंग की जाएगी। पल्स पोलियो की तर्ज पर इस अभियान के तहत सूबे के शत-प्रतिशत लोगों की स्क्रीनिंग होगी। वहीं, संदिग्ध लक्षणों वालों की मौके पर ही जांच होगी और शक होने पर उन्हें तुरंत इलाज मुहैया करवाया जायेगा।

Yogi Governments Big Initiative To Break Coronas Chain Corona Will Be Screened From House To House :

लिहाजा योगी सरकार ने किसी भी संदिग्ध लक्षण वाले व्यक्ति तक पहुंचने की शुरुआत की है ताकि कोई भी इस महामारी की चपेट में न आये। पूरे उत्तर प्रदेश में एक लाख से ज्यादा टीमें इस काम को अंजाम देंगी। बता दें कि, यूपी के 17 मंडलों में यह अभियान चलाया जायेगा और इसकी शुरूआत मेरठ मंडल से होगी।

करीब 1400 लोगों की टीम मेरठ मंडल में घर-घर जांच करेंगी। पांच जुलाई से इसकी शुरुआत होने वाली है। पूरे उत्तर प्रदेश में एक लाख से ज्यादा टीमें इस काम को अंजाम देंगी। लखनऊ में दो हजार से ज्यादा लोगों की टीमें घर-घर जाकर कोरोना का नमूना लेंगी। बता दें कि, रविवार को यूपी के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा की और अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रदेश के शत-प्रतिशत घरों की स्क्रीनिंग की व्यवस्था के लिए रणनीति तैयार की जाए।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार कोरोना की चेन तोड़ने के लिए बड़ी मुहिम चलाने जा रही है। इस मुहिम की शुरूआत मेरठ मंडल से कर दी गयी है। इसके तहत यूपी के 17 मंडलों में अब घर-घर लोगों की स्क्रीनिंग की जाएगी। पल्स पोलियो की तर्ज पर इस अभियान के तहत सूबे के शत-प्रतिशत लोगों की स्क्रीनिंग होगी। वहीं, संदिग्ध लक्षणों वालों की मौके पर ही जांच होगी और शक होने पर उन्हें तुरंत इलाज मुहैया करवाया जायेगा। लिहाजा योगी सरकार ने किसी भी संदिग्ध लक्षण वाले व्यक्ति तक पहुंचने की शुरुआत की है ताकि कोई भी इस महामारी की चपेट में न आये। पूरे उत्तर प्रदेश में एक लाख से ज्यादा टीमें इस काम को अंजाम देंगी। बता दें कि, यूपी के 17 मंडलों में यह अभियान चलाया जायेगा और इसकी शुरूआत मेरठ मंडल से होगी। करीब 1400 लोगों की टीम मेरठ मंडल में घर-घर जांच करेंगी। पांच जुलाई से इसकी शुरुआत होने वाली है। पूरे उत्तर प्रदेश में एक लाख से ज्यादा टीमें इस काम को अंजाम देंगी। लखनऊ में दो हजार से ज्यादा लोगों की टीमें घर-घर जाकर कोरोना का नमूना लेंगी। बता दें कि, रविवार को यूपी के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा की और अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रदेश के शत-प्रतिशत घरों की स्क्रीनिंग की व्यवस्था के लिए रणनीति तैयार की जाए।