योगी इन एक्शन: सीएम के आदेश पर इलाहाबाद में दो स्लाटर हाउस हुए सील

इलाहाबाद। अभी योगी सरकार के शपथ ग्रहण हुए 24 घंटे भी नहीं हुए लेकिन यह सरकार एक्शन में आ चुकी है। सीएम योगी आदित्यनाथ के बूचड़खानों (स्लाटर हाउस) को बंद करने की घोषणा के बाद इलाहाबाद नगर निगम प्रशासन ने देर रात पुलिस टीम के साथ अटाला और नैनी के चकदोंदी मोहल्ले के दो स्लाटर हाउस को सील कर दिया। हालांकि शहर में अभी रामबाग समेत कई बूचड़खानों खुले हुये हैं।




शहर में करेली स्थित अटाला और कीडगंज के रामबाग में दो तथा नैनी के चकदोंदी मोहल्ले में बूचड़खाने हैं। मई 2016 में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेश पर अवैध रूप से चल रहे बूचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। प्रदेश में 250 से ज्यादा अवैध बूचड़खाने चिह्नित हैं। जिन्हें नगर निगम और संबंधित विभाग के अफसर कागज पर बंद बता रहे हैं। वास्तविकता यह है कि इन बूचड़खानों में रोज सैकड़ों जानवर काटे जाते हैं।



गौरतलब है कि यूपी चुनाव के दौरान भाजपा ने अवैध रूप से मानक के विपरीत चल रहे बूचड़खानों को सरकार बनते ही बंद कराने की घोषणा की थी। इसी क्रम में शपथ लेने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने बूचड़खानों को बंद कराने की घोषणा को पूरा करने के लिए प्रतिबद्धता जताई। इसके तुरंत बाद नगर निगम प्रशासन रविवार होने के बावजूद हरकत में आ गया। निगम के पशुधन अधिकारी डॉ. धीरज गोयल मातहतों की टीम के साथ पहले करेली थाने पहुंचे। वहां से एसओ संग फोर्स लेकर अटाला स्थित बूचड़ खाने पहुंचे। वहां स्लाटर हाउस के गेट पर ताला लगा सील करने की कार्रवाई की गई।