योगी ने दिया कोचिंग चला रहे सरकारी शिक्षकों के खिलाफ FIR का निर्देश

लखनऊ। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सूबे की शिक्षा व्यवस्था को पटरी पर लाने की कवायद में जुट गए है। आज योगी ने शिक्षा व्यवस्था में खलल डालने वाले अराजक तत्वों को चेतावनी देते हुए कहा कि नकल माफियाओं के साथ सख्ती से निपटा जाएगा। योगी ने आदेश देते हुए कहा कि वे सरकारी शिक्षक जो अपना कोचिंग चला रहे है उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर चिन्हित किया जाए।




राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने आज बताया कि मुख्यमंत्री योगी महसूस करते हैं कि राज्य की शिक्षा व्यवस्था में काफी सुधार की जरूरत है। राज्य सरकार इसे सुधारने के लिए हरसम्भव प्रयास करेगी। जहां एक तरफ यह प्रयास किया जाएगा कि सभी परीक्षाएं समय पर हों, वहीं दूसरी तरफ राज्य सरकार यह भी कोशिश करेगी कि नकल पर पूरी तरह से लगाम लगे।




सरकार नकल माफियाओं के साथ सख्ती से निपटने को तैयार है और शिक्षा व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए सरकार हर संभव प्रयास करेगी। दागी केन्द्रों को चिह्नित कर उन्हें ब्लैक लिस्ट करने के साथ-साथ उनके खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज कराई जाएगी। योगी ने सोमवार देर रात शास्त्री भवन में शिक्षा को लेकर हुए प्रस्तुतिकरण के दौरान कहा कि प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था का स्तर सुधारने के लिए नकल माफिया से निपटना जरूरी है।




शिक्षा को अपनी प्राथमिकता बताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को शिक्षा व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाने के साथ शिक्षा अधिकारियों के दफ्तरों और स्कूलों में सफाई के निर्देश दिए। यूपी बोर्ड परीक्षा में बड़े पैमाने पर हो रही नकल पर चिंता जताते हुए उन्होंने कहा कि जिन केंद्रों पर नकल की शिकायतें मिल रही हैं, उन्हें अगले साल परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जाए।