विपक्ष पर योगी का तंज-मुर्गा बांग नहीं देगा, सुबह तब भी होगी,

cm yogi
विपक्ष पर योगी का तंज-मुर्गा बांग नहीं देगा, सुबह तब भी होगी,

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर 36 घंटे के लिए विधानसभा की विशेष सत्र बुलाई है। लेकिन इस सत्र का सपा-बसपा और कांग्रेस ने बहिष्कार कर दिया था हालांकि इन पार्टियों के कुछ विधायक सत्र में शामिल हुए हैं। वहीं गुरूवार को विपक्षियों पर तंज कसते हुए सीएम योगी ने कहा कि कि मुर्गा बांग नहीं देगा, सुबह सुबह तब भी होगी।

Yogis Cock And Cock Will Not Budge On The Opposition It Will Still Be Morning :


इस दौरान सीएम योगी ने विधान परिषद में सतत् विकास लक्ष्यों की प्राप्ति की दिशा में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का विस्तृत ब्यौरा दिया। योगी ने इस मौके पर विपक्षियों पर आलोचना करते हुए कहा कि ऐसे लोग व्यवधान पैदा करना अपना जन्मसिद्ध अधिकार मानते हैं। उन्होने कहा कि ‘यह मेरा है, यह पराया’ है, ये सोच छोटे चरित्र वाले लोग रखते हैं, बड़े चरित्र वालों के लिए दुनिया ही परिवार है।

सीएम ने कहा कि आज विपक्ष बेनकाब हो गया है। सदन में सतत् विकास और गरीबों की बेहतरी पर ऐतिहासिक चर्चा हो रही है। इससे गायब रहकर उसने साबित कर दिया कि उसका न तो गांधीजी के दर्शन से कोई सरोकार है और न गरीबों की खुशहाली से। लेकिन हमे किसी दल की खुशी से नही बल्कि 23 करोड़ जनता की खुशी से मतलब है।

योगी ने कहा कि अलग-अलग योजनाओं के माध्यम से सरकार ने लोगों के जीवन स्तर को उठाने का काम किया है। पिछली सरकारों में खाद्यान्न लाभार्थियों तक नहीं पहुंचता था। हमारी सरकार में 3.55 करोड़ परिवारों को गेहूं-चावल मिलना शुरू हुआ। दुनिया से गरीबी, भुखमरी, बेगारी को खत्म करने के लिए जो लक्ष्य तय किए गये हैं, हमें उन पर काम करना है। लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए ‘विजन 2030’ बनाया गया है। पीएम मोदी ने इन लक्ष्यों को पूरा करने के लिए बड़ा कदम उठाया है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर 36 घंटे के लिए विधानसभा की विशेष सत्र बुलाई है। लेकिन इस सत्र का सपा-बसपा और कांग्रेस ने बहिष्कार कर दिया था हालांकि इन पार्टियों के कुछ विधायक सत्र में शामिल हुए हैं। वहीं गुरूवार को विपक्षियों पर तंज कसते हुए सीएम योगी ने कहा कि कि मुर्गा बांग नहीं देगा, सुबह सुबह तब भी होगी। इस दौरान सीएम योगी ने विधान परिषद में सतत् विकास लक्ष्यों की प्राप्ति की दिशा में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का विस्तृत ब्यौरा दिया। योगी ने इस मौके पर विपक्षियों पर आलोचना करते हुए कहा कि ऐसे लोग व्यवधान पैदा करना अपना जन्मसिद्ध अधिकार मानते हैं। उन्होने कहा कि 'यह मेरा है, यह पराया' है, ये सोच छोटे चरित्र वाले लोग रखते हैं, बड़े चरित्र वालों के लिए दुनिया ही परिवार है। सीएम ने कहा कि आज विपक्ष बेनकाब हो गया है। सदन में सतत् विकास और गरीबों की बेहतरी पर ऐतिहासिक चर्चा हो रही है। इससे गायब रहकर उसने साबित कर दिया कि उसका न तो गांधीजी के दर्शन से कोई सरोकार है और न गरीबों की खुशहाली से। लेकिन हमे किसी दल की खुशी से नही बल्कि 23 करोड़ जनता की खुशी से मतलब है। योगी ने कहा कि अलग-अलग योजनाओं के माध्यम से सरकार ने लोगों के जीवन स्तर को उठाने का काम किया है। पिछली सरकारों में खाद्यान्न लाभार्थियों तक नहीं पहुंचता था। हमारी सरकार में 3.55 करोड़ परिवारों को गेहूं-चावल मिलना शुरू हुआ। दुनिया से गरीबी, भुखमरी, बेगारी को खत्म करने के लिए जो लक्ष्य तय किए गये हैं, हमें उन पर काम करना है। लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए 'विजन 2030' बनाया गया है। पीएम मोदी ने इन लक्ष्यों को पूरा करने के लिए बड़ा कदम उठाया है।