1. हिन्दी समाचार
  2. योगी के मंत्री बाबूराम ने दायर किया तलाक का मुकदमा, पत्नी पर लगाए गंभीर आरोप

योगी के मंत्री बाबूराम ने दायर किया तलाक का मुकदमा, पत्नी पर लगाए गंभीर आरोप

Yogis Minister Baburam Filed Divorce Case Serious Allegations Against Wife

By बलराम सिंह 
Updated Date

लखनऊ। योगी सरकार के दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री बाबूराम निषाद का पत्नी नीतू निषाद उर्फ शबनम से चल रहा आपसी विवाद अदालत तक पहुंच गया है। राज्यमंत्री ने बुधवार को हमीरपुर जनपद में प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय की कोर्ट में उपस्थित होकर धारा 13 हिंदू विवाद अधिनियम (तलाक) का मुकदमा दाखिल किया है। इस संबंध में अदालत ने आगामी 30 अक्तूबर को उनकी पत्नी को उपस्थित होने का आदेश सुनाया है।

पढ़ें :- 16 जनवरी 2021 का राशिफल: इस राशि के जातकों को मिलने वाला है रुका हुआ धन, जानिए अपनी राशि का हाल

प्रदेश सरकार में पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं वित्त विकास निगम के चेयरमैन दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री बाबूराम निषाद के अधिवक्ता विजय कुमार द्विवेदी व शैलेंद्र कुमार सचान ने बताया कि बुधवार को प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय में शपथ पत्र दिया।

शपथ पत्र में कहा गया है कि 10 मई 2005 को हिंदू रीति रिवाज के साथ बाबूराम ने नीतू निषाद उर्फ शबनम पुत्री स्व होरीलाल निषाद निवासी एनटू रोड नई सब्जी मंडी लाल बंगला कानपुर के साथ के शादी की थी।

शादी में किसी प्रकार से कोई दान दहेज नहीं लिया गया था। शादी के बाद से ही उसकी पत्नी वैवाहिक जीवन में रुचि नहीं ले रही थी। उसके बावजूद वह वैवाहिक संबंधों को बरकरार रखते हुए उसके व्यवहार को नजरअंदाज करता रहा।
शबनम से बाबूराम निषाद को एक बेटा सांतनु (13) व एक बेटी सुप्रसिद्घा (11) है। जिसकी शिक्षा दीक्षा व परवरिश लखनऊ में बाबूराम कर रहे हैं। राज्यमंत्री बाबूराम निषाद का कहना है कि उसकी पत्नी का चाल चलन पिछले कुछ वर्षों से ठीक नहीं है। समझाने पर वह विरोध करती है और झगड़े पर आमादा हो जाती है।

बाबूराम निषाद ने कहा कि उसकी पत्नी झूठे प्रार्थना पत्र देकर लगातार प्रताड़ित कर फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी दे रही है। शिकायतों की जांच अधिकारियों द्वारा की गई है। आरोप है कि पत्नी उसे फर्जी मुकदमे में फंसाने की फिराक में है। बाबूराम निषाद का कहना है कि पत्नी के कहने पर उसने लखनऊ में घर लिया। यहां आकर भी उसके व्यवहार में परिवर्तन नहीं आया। बाबूराम ने कहा कि पत्नी ने फेसबुक में 22 सितंबर को एक पोस्ट डाली। जिससे उसे मानसिक आघात पहुंचा है।

पढ़ें :- महराजगंज:जनता ने मौका दिया तो क्षेत्र का होगा समग्र विकास: रवींद्र जैन

बाबूराम का कहना है कि पत्नी लाखों रुपयों की मांग करती है जो दे पाना संभव नहीं है। ऐसा न करने पर उनसे गाली गलौज करती है। जिससे कभी कोई घटना भी घट सकती है। ऐसी स्थित में पत्नी के साथ रह पाना संभव नहीं है। अधिवक्ताओं ने बताया कि अदालत ने मामले में सम्मन जारी कर दिए है। 30 अक्तूबर को पत्नी नीतू को अदालत में उपस्थित होने का आदेश सुनाया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...