क्या आप सेक्सटिंग के बारे में जानते है ये बातें?

सेक्सटिंग को कई मायनो में लोग अच्छा नहीं मानते। बीते समय में ऐसी कई रिसर्च भी हुई हैं जिनमें इस बात पर प्रकाश डाला गया कि सेक्सटिंग आपको सेक्शुअल बिहेवियर को प्रभावित करता है। लेकिन इससे उलट एक हालिया स्टडी में इसके प्रभाव के बारे में बताया है।
इस रिसर्च के हालिया विश्लेषण में बताया गया है कि सेक्सटिंग का प्रभाव तो पड़ता है पर इतना नहीं जितना हम सोचते हैं। रिसर्च टीम ने सेक्सटिंग के प्रभाव पर स्टडी करने के लिए कई तरह के एक्सपेरिमेंट भी किए। सेक्सटिंग किस तरह से पूरे शरीर पर असर डालती है इस पर भी स्टडी की गई लेकिन कुछ खास हासिल नहीं हो पाया।

इस रिसर्च के अंतर्गत 15 स्टडीज की गई जिसमें सेक्सटिंग, यौन गतिविधि, असुरक्षित यौन संबंध और सेक्स पार्टनर की संख्या के बीच में एक कड़ी खोजने की कोशिश की गई। शोधकर्ताओं ने पाया कि सेक्सटिंग का इन सभी श्रेणी के बीच एक कमजोर सांख्यिकीय संबंध था।

वास्तव में, सेक्सटिंग के लिए एक सहमत-परिभाषा भी नहीं है। ऐसे में इससे परेशान होने की जरुरत तो नहीं नजर आती है। लेकिन इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि हर किसी का दिमाग अलग होता है और वो इन संदेशों को किस तरह से ले इसका भी अंदाजा नहीं होता। ऐसे में यह आपके ऊपर है कि आप किस तरह सेक्सटिंग को अपनाते हैं या फर छोड़ते हैं।