खुशखबरी! अब मात्र 2 रुपये में सार्वजनिक स्थानों पर मिलेगी WIFI की सुविधा

WIFI ,TRAI ट्राई
खुशखबरी! अब मात्र 2 रुपये में सार्वजनिक स्थानों पर मिलेगी WIFI की सुविधा
नई दिल्ली। इंटरनेट यूजर्स के लिए टेलिकॉम रेग्यूलेटर ट्राई ने PCO की तरह पब्लिक डेटा ऑफिस प्रोवाइडर्स (PDOs) का शानदार आइडिया दिया है। जिसके तहत WIFI कनेक्टिविटी को बढ़ाने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर जगह-जगह PDOs लगाए जाएंगे जिसकी मदद से आप कहीं भी सस्ते में यानि मात्र 2 रुपये में WIFI का इस्तेमाल कर सकेंगे। ट्राई ने पब्लिक WIFI का यह मॉडल देश में ब्रॉडबैंड इंटरनेट को बढ़ाना के लिए किया है। PDOs के लिए ट्राई ने कहा कि…

नई दिल्ली। इंटरनेट यूजर्स के लिए टेलिकॉम रेग्यूलेटर ट्राई ने PCO की तरह पब्लिक डेटा ऑफिस प्रोवाइडर्स (PDOs) का शानदार आइडिया दिया है। जिसके तहत WIFI कनेक्टिविटी को बढ़ाने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर जगह-जगह PDOs लगाए जाएंगे जिसकी मदद से आप कहीं भी सस्ते में यानि मात्र 2 रुपये में WIFI का इस्तेमाल कर सकेंगे।

ट्राई ने पब्लिक WIFI का यह मॉडल देश में ब्रॉडबैंड इंटरनेट को बढ़ाना के लिए किया है। PDOs के लिए ट्राई ने कहा कि भारत विश्व के अन्य देशों से ब्रॉडबैंड इंटरनेट के मामले में पिछड़ रहा है, ऐसा खासतौर पर ग्रामीण इलाकों में हो रहा है। यही वजह है कि ट्राई छोटी कंपनियों के जरिए इन इलाकों में भी वाई-फाई कनेक्टिविटी बढ़ाना चाहता है। ट्राई के मुताबिक PDOs में वाई-फाई की कीमत 2 रुपये से शुरू होगी।

{ यह भी पढ़ें:- मोबाइल नंबर पोर्ट करवाना हुआ आसान, TRAI ने उठाया कदम }

ट्राई ने जिस ग्रिड का प्रस्ताव रखा है, उसमें कई कंपनियों के एक ही प्लेटफार्म पर साथ आकर एक्सेस, सर्विस और पेमेंट जैसे पहलुओं का समाधान करना है। ट्राई के चेयरमैन आर एस शर्मा ने बताया, ‘देश में ब्रॉडबैंड की पहुंच डिजिटल इंडिया का महत्वपूर्ण स्तंभ है। डिवाइसेस की कम लागत और नि:शुल्क स्पेक्ट्रम को देखते हुए WIFI सबसे सस्ता विकल्प है।’ ट्राई ने पुराने दिनों के PCOs की तर्ज पर PDOs पब्लिक डेटा ऑफिस प्रोवाइडर का प्रस्ताव रखा है जो कि पैसा लेकर या फ्री WIFI हॉटस्पाट उपलब्ध करवाएंगे।

PDOs कोई कंपनी या छोटे कारोबार भी हो सकते हैं। ट्राई के प्रमुख ने पब्लिक WIFI ओपन पायलट प्रोजेक्ट पर अपनी रिपोर्ट दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा को पेश की। इसमें ट्राई ने इस दिशा में अपने परीक्षण के पहले चरण की सफलता को रेखांकित किया गया है। नियामक ने अब इस दिशा में और आगे कदम बढ़ाने का सुझाव दिया है।

{ यह भी पढ़ें:- TRAI ने कम की मोबाइल पोर्टेबिलिटी की दर, सिर्फ 4 रुपये में पोर्ट होगा मोबाइल नंबर }

Loading...