RTI से NHAI का खुलासा : 3 मिनट से ज्यादा इंतजार पर हर्जाने में मिलता है टैक्स फ्री पास

नई दिल्ली। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) से मांगी गई आरटीआई (RTI Act 2005) में खुलासा हुआ है कि यदि आपके वाहन को टोल बूथ पर तीन मिनट से ज्यादा इंतजार करना पड़ता है तो इस स्थिति में वाहन को मुफ्त में पास दिया जाएगा। इसी आरटीआई में बताया गया है कि प्राधिकरण की ओर से किसी भी वाहन को अधिकतम 2.50 मिनट ही टोल पर रोका या इंतज़ार करवाया जा सकता है।

हम सभी टोल बूथोंं की कार्यशैली से परचित हैं। किसी भी बूथ पर चार से आठ काउंटर होते हैं लेकिन काम गिने चुने ही करते हैं। जिस वजह से टोल बूथ पर हमारा अच्छा खासा समय टैक्स भरने में बीत जाता है। इस दौरान हमें गुस्सा भी आता है और पैसे भी चुकाने पड़ते हैं। जबकि वास्तविकता यह है कि अगर उपभोक्ता को टोल लेने के लिए बनी कतार में 3 मिनट से ज्यादा का वक्त लगने के बाद टैक्स फ्री पास मिलना चाहिए। यह कोई उपहार नहीं ​बल्कि उसके बर्बाद हुए समय की भरपाई के रूप में मिला हर्जाना होगा। यह जानकारी आरटीआई के तहत मांगी गई जानकारी में सामने आई है।

{ यह भी पढ़ें:- भाजपा विधायक की गलत बयानी, डासना टोल प्लाजा पर होती है अवैध वसूली }

मिली जानकारी के मुताबिक लुधियाना के वकील हरिओम जिंदल ने आरटीआई एक्ट 2005 के तहत एनएचएआई से चार बिन्दुओं पर जनसूचना मांगी थी।

1— उपभोक्ता को टोल टैक्स चुकाने के लिए बूथ पर अधिकतम 30 सेकेन्ड का प्रावधान है क्या प्राधिकरण कतार में खड़े वाहनों को अपनी बारी आने के लिए इंतजार करने के लिए कोई अधिकतम सीमा निर्धारित करता है?

{ यह भी पढ़ें:- RTI: जनता के पैसों को हवा में उड़ाने के मामले में वामपंथी सांसद सबसे आगे }

प्राधिकरण का जवाब — 2 मिनट और 50 सेकेन्ड का समय निर्धारित है जिसमें उपभोक्ता को कतार में लगने और टोल चुकाने का समय सम्मलित है।

2— क्या टोल बूथ पर रिसीविंग लेने और करात में खड़े रहकर बारी आने के लिए किए जाने वाले इंतजार के लिए अलग—अलग समय सीमा का प्रावधान भी है?

प्राधिकरण का जवाब— नहीं।

{ यह भी पढ़ें:- लखनऊ पहुंचे राहुल, NHAI दफ्तर के दौरे के बाद 35 मिनट में दिल्ली लौटे }

3— यदि उपभोक्ता या यात्री को तय समय सीमा से अधिक यानी कतार में इंतजार करने और बूथ से रिसीविंग लेने में लगने वाला समय निर्धारित समय सीमा से अधिक होता है, तो क्या इसे उपभोक्ता के शोषण के रूप में देखा जाएगा? अगर ऐसा है तो उपभोक्ता की भरपाई के लिए क्या प्रावधान है?

प्राधिकरण का जवाब— यदि कतार में लगने से लेकर बूथ से रिसीविंग लेने में कुल समय 3 मिनट से ज्यादा का समय लगता है तो फ्री आॅफ कॉस्ट पॉस दिया जा जाना चाहिए। यानी उपभोक्ता से इसके लिए किसी प्रकार का कोई टोल टैक्स बसूल नहीं किया जा सकता।

4— अगर उपभोक्ता का वाहन टोल रोड़ पर बिगड़ जाता है तो ऐसी स्थिति में उसे किससे संपर्क करना चाहिए और उसका विवरण क्या होगा?

प्राधिकरण का जवाब— अगर उपभोक्ता का वाहन बिगड़ जाता है तो उसे उस स्थिति में टोल फ्री नंबर 18001803636 पर मदद के लिए संपर्क करना चाहिए।

{ यह भी पढ़ें:- EVM गड़बड़ी का खुलासा, बटन दबाया निर्दलीय पर वोट मिला BJP को }

आपको बता दें कि यह जानकारी 29—08—2016 को आरटीआई के तहत एनएचएआई की क्षेत्री कार्यालय पंचकुला द्वारा उपलब्ध करवाई गई है।