सावधान: आपके बेडरूम की पर्सनल बातें सुन रहा आपका स्मार्टफोन

5WeBF5frNUWpg67SFplDIA (1)

नई दिल्ली: आपको जानकार हैरानी होगी कि आप अपने बेडरूम में जो पर्सनल बातें करते हैं, वह भी आपके स्मार्टफोन के ‘कानों’ से बची नहीं है। जी हां, इसका खुलासा दुनिया की मशहूर मैगजीन फोर्ब्स की रिपोर्ट में किया गया है। एक बड़े और अनुभवी साइबर रिसर्चर ने फोर्ब्स को बताया कि वहां अपने रेडमी नोट 8 स्मार्टफोन फोन पर जो कुछ भी कर रहे था, उन बातों को उनका फोन रिकॉर्ड कर रहा था और इस डेटा को अन्य चीनी टेक दिग्गज कंपनी, अलीबाबा द्वारा होस्ट किए गए रिमोट सर्वर पर भेजा जा रहा था, जो कि श्याओमी द्वारा किराए पर लिया गया है। इस साइबर रिसर्चर ने पाया कि उनके हर तरीके के काम पर नजर रखी जा रही थी।

Your Smartphone Listening To The Personal Things In Your Bedroom :

जब उन्होंने स्मार्टफोन के डिफॉल्ट श्योमी ब्राउजर के वेब पेज पर सर्च करना शुरू किया,तब उन्होंने पाया कि वहां पर उनकी सभी वेबसाइटों को रिकॉर्ड किया गया है। इसमें मेरे सभी गूगल सर्च इंजन का भी रिकॉर्ड था। डिवाइस यह भी रिकॉर्ड कर रहा था कि मैने कौन से फोल्डर्स को खोला और किन स्क्रीन पर स्वाइप किया, जिनमें स्टेटस बार और सेटिंग्स पेज शामिल थे। मेरे सभी डेटा को यहां से उठाकर सिंगापुर और रूस में दूरस्थ सर्वरों को भेजा जा रहा था, हालांकि वे जिन वेब डोमेन की मेजबानी करते थे, वे बीजिंग में रजिस्टर्ड थे। हालांकि शियोमी ने इनकार किया है।

नई दिल्ली: आपको जानकार हैरानी होगी कि आप अपने बेडरूम में जो पर्सनल बातें करते हैं, वह भी आपके स्मार्टफोन के 'कानों' से बची नहीं है। जी हां, इसका खुलासा दुनिया की मशहूर मैगजीन फोर्ब्स की रिपोर्ट में किया गया है। एक बड़े और अनुभवी साइबर रिसर्चर ने फोर्ब्स को बताया कि वहां अपने रेडमी नोट 8 स्मार्टफोन फोन पर जो कुछ भी कर रहे था, उन बातों को उनका फोन रिकॉर्ड कर रहा था और इस डेटा को अन्य चीनी टेक दिग्गज कंपनी, अलीबाबा द्वारा होस्ट किए गए रिमोट सर्वर पर भेजा जा रहा था, जो कि श्याओमी द्वारा किराए पर लिया गया है। इस साइबर रिसर्चर ने पाया कि उनके हर तरीके के काम पर नजर रखी जा रही थी।

जब उन्होंने स्मार्टफोन के डिफॉल्ट श्योमी ब्राउजर के वेब पेज पर सर्च करना शुरू किया,तब उन्होंने पाया कि वहां पर उनकी सभी वेबसाइटों को रिकॉर्ड किया गया है। इसमें मेरे सभी गूगल सर्च इंजन का भी रिकॉर्ड था। डिवाइस यह भी रिकॉर्ड कर रहा था कि मैने कौन से फोल्डर्स को खोला और किन स्क्रीन पर स्वाइप किया, जिनमें स्टेटस बार और सेटिंग्स पेज शामिल थे। मेरे सभी डेटा को यहां से उठाकर सिंगापुर और रूस में दूरस्थ सर्वरों को भेजा जा रहा था, हालांकि वे जिन वेब डोमेन की मेजबानी करते थे, वे बीजिंग में रजिस्टर्ड थे। हालांकि शियोमी ने इनकार किया है।