लॉकडाउन खुलने के बाद बदल जाएगा आपका ट्रेन का सफर, जानिए क्या होंगे बदलाव

train
लखनऊ से दिल्ली और मुबंई के लिए चलेंगी ये ट्रेनें, देखें लिस्ट

नई दिल्ली: कोरोना से निपटने के लिए पूरे देश को पूर्ण रूप से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया गया। ऐसे में कहा जा रहा है कि आगामी 15 अप्रैल से लॉकडाउन खत्म हो जायेगा। हालांकि, इस मामले में अभी कोई आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन अगर लॉकडाउन खत्म हो भी जाता है तो आपको कुछ बातों का ध्यान जरूर रखना पड़ेगा। क्योंकि लॉकडाउन खुलने के बाद जब आप ट्रेन में सफर करेंगे तो सफर की तैयारी से लेकर सफर का समय तक, कुछ भी आपको पहले जैसा नहीं लगेगा। बहुत सारे नियमों का पालन आपको करना होगा, कई तरह के टेस्ट्स से गुजरना होगा।

Your Train Journey Will Change After The Lockdown Opens Know What Will Change :

मिली जानकारी के मुताबिक एक अधिकारी ने बताया कि रेलवे फिलहाल आमदनी के बारे में नहीं बल्कि यात्रियों की सुरक्षा के बारे में सोच रहा है। यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि कोरोना और न फैले। लॉकडाउन के बाद सभी यात्रियों से अपील की जाएगी कि वे बिना मास्क सफर न करें, उनके स्वास्थ्य को बड़ा खतरा हो सकता है।

रेलवे का विचार है कि आरोग्य सेतु ऐप का सहारा लेकर यात्रियों के स्वास्थ्य को चेक किया जाए। अगर कोई यात्री स्वस्थ नहीं पाया गया तो उसे ट्रेन के सफर से रोका जाये। इसके साथ ही एयरपोर्ट की तरह हर यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग की जा सकती है। इसके अलावा, यात्रियों के स्वास्थअय की जांच करने के लिए कई अन्य विकल्पों पर भी विचार किया जा रहा है।

अधिकारी ने आगे बताया कि लॉकडाउन के बाद रेलवे की प्राथमिकता में ऐसे रूट्स के लिए जगह नहीं होगी, जिसमें कोरोना के हटस्पॉट आते हों। लॉकडाउन खुलने का यह मतलब नहीं कि अचानक सब सोशल डिस्टैंसिंग की जरूरत को भूल जाएं। रेलवे की कोशिश रहेगी कि स्टेशनों और प्लैटफॉर्म्स पर कम से कम लोग हों। गैरजरूरी यात्राओं को टालने की रणनीति के साथ काम हो सकता है। ऐसे में अगर आप कहीं जा रहे हैं तो पहले चेक करें कि आपका जाना कितना जरूरी है और साथ ही दोस्तों-रिश्तेदारों को स्टेशन पर सी-ऑफ करने के लिए न बुलाएं।

नई दिल्ली: कोरोना से निपटने के लिए पूरे देश को पूर्ण रूप से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया गया। ऐसे में कहा जा रहा है कि आगामी 15 अप्रैल से लॉकडाउन खत्म हो जायेगा। हालांकि, इस मामले में अभी कोई आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन अगर लॉकडाउन खत्म हो भी जाता है तो आपको कुछ बातों का ध्यान जरूर रखना पड़ेगा। क्योंकि लॉकडाउन खुलने के बाद जब आप ट्रेन में सफर करेंगे तो सफर की तैयारी से लेकर सफर का समय तक, कुछ भी आपको पहले जैसा नहीं लगेगा। बहुत सारे नियमों का पालन आपको करना होगा, कई तरह के टेस्ट्स से गुजरना होगा। मिली जानकारी के मुताबिक एक अधिकारी ने बताया कि रेलवे फिलहाल आमदनी के बारे में नहीं बल्कि यात्रियों की सुरक्षा के बारे में सोच रहा है। यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि कोरोना और न फैले। लॉकडाउन के बाद सभी यात्रियों से अपील की जाएगी कि वे बिना मास्क सफर न करें, उनके स्वास्थ्य को बड़ा खतरा हो सकता है। रेलवे का विचार है कि आरोग्य सेतु ऐप का सहारा लेकर यात्रियों के स्वास्थ्य को चेक किया जाए। अगर कोई यात्री स्वस्थ नहीं पाया गया तो उसे ट्रेन के सफर से रोका जाये। इसके साथ ही एयरपोर्ट की तरह हर यात्री की थर्मल स्क्रीनिंग की जा सकती है। इसके अलावा, यात्रियों के स्वास्थअय की जांच करने के लिए कई अन्य विकल्पों पर भी विचार किया जा रहा है। अधिकारी ने आगे बताया कि लॉकडाउन के बाद रेलवे की प्राथमिकता में ऐसे रूट्स के लिए जगह नहीं होगी, जिसमें कोरोना के हटस्पॉट आते हों। लॉकडाउन खुलने का यह मतलब नहीं कि अचानक सब सोशल डिस्टैंसिंग की जरूरत को भूल जाएं। रेलवे की कोशिश रहेगी कि स्टेशनों और प्लैटफॉर्म्स पर कम से कम लोग हों। गैरजरूरी यात्राओं को टालने की रणनीति के साथ काम हो सकता है। ऐसे में अगर आप कहीं जा रहे हैं तो पहले चेक करें कि आपका जाना कितना जरूरी है और साथ ही दोस्तों-रिश्तेदारों को स्टेशन पर सी-ऑफ करने के लिए न बुलाएं।