गांजे की साइंटिफिक खेती कर रहे युवक को पुलिस ने दबोचा





हैदराबाद। एक युवक ने अपने कारनामे से हैदराबाद पुलिस को चौका दिया, गांजे जैसे मादक पदार्थों के कारोबार में लिप्त इस युवक का नाम सैयद शाहिद हुसैन है। शाहिद मादक पदार्थों की तस्करों से माल लेकर बेंचने के साथ—साथ अपने मकान में गांजा उगा रहा था। पुलिस के सामने अपना जुर्म कबूल करते हुए शाहिद ने बताया है कि उसने गांजे की खेती के लिए एक तीन बेडरूम का नया घर खरीदा था, जिसमें वह अपने अमेरिकी दोस्त से मिलने वाले सांइटिफिक निर्देशों से गांजे की खेती कर रहा था।




मिली जानकारी के मुताबिक हैदराबाद के मनीकोंडा इलाके की फ्रेंड्स कॉलोनी स्थित फ्लैट से नशीले पदार्थों का धंधा करने वाले शाहिद को पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर रविवार की रात गोलकोंडा इलाके से गिरफ्तार किया है। उस समय शाहिद ग्राहकों को ड्रग बेच रहा था। पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद शाहिद की पहचान पूर्व बैंकर्र के रूप में हुई है। हैदराबाद पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने आरोपी के घर पर छापेमारी कर गांजे के 40 पौधों को जब्त कर लिया।

बकौल पुलिस जब STF की टीम ने आरोपी के घर पर छापा मारा तो वे साइंटिफिक तरीके से उगाए जा रहे गांजे को देख कर दंग रह गए। गांजे के पौधे बेहतर नस्ल के हो और उनके लिए वैज्ञानिक रूप से तापमान को नियंत्रित रखने के लिए पूरी व्यवस्था की गई थी।

विशेष तरीके से उगता था गंजा

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (STF) एन कोटि रेड्डी ने बताया, ‘हुसैन ने गांजे की खेती के लिए फ्लैट के अंदर आर्टिफिशियल तापमान बनाए रखने का सिस्टम तैयार कर रखा था। वह LED लाइट्स, टेबल फैन और एसी का इस्तेमाल करता था। वह विशाखापत्तनम, ईस्ट गोदावरी और तंदुर जिलों से सप्लायर्स से 3500 रुपये प्रति किलो के हिसाब से खरीद कर उन्हें 16000 के भाव में बेच देता था।




विदेशी दोस्त करता था इस काम में मदद

हुसैन को ऐसा करने का आइडिया अपने एक अमेरिकी दोस्त से मिला था। यह दोस्त उसे वीडियोज के माध्यम से बेहतर गांजे की खेती करने के टिप्स दिया करता था। जिन्हें आजमा कर वह गांजे की खेती कर रहा था।