अगस्ता वेस्टलैंड मामला: मिशेल की ओर से कोर्ट में पेश हुए जोसेफ़ को कांग्रेस ने निकाला

अगस्ता वेस्टलैंड मामला: मिशेल की ओर से कोर्ट में पेश हुए जोसेफ़ को कांग्रेस ने निकाला
अगस्ता वेस्टलैंड मामला: मिशेल की ओर से कोर्ट में पेश हुए जोसेफ़ को कांग्रेस ने निकाला

नई दिल्ली। भारतीय युवक कांग्रेस ने संगठन की विधिक इकाई के राष्ट्रीय प्रभारी अल्जो के जोसेफ़ को पार्टी से निकाल दिया है। जोसेफ़ अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे के कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल की ओर से बुधवार को कोर्ट में पेश हुए थे।

Youth Congress Taken Remove Mitchells Lawyer Aljo K Joseph :

यूएई से प्रत्यर्पण के बाद भारत लाये गये मिशेल के वकील के तौर पर पेश हुए जोसेफ भारतीय युवा कांग्रेस के विधि विभाग के प्रभारी की भूमिका में थे। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के संयुक्त सचिव एवं युवा कांग्रेस के प्रभारी कृष्णा अल्लावरू ने कहा कि जोसेफ अपनी निजी हैसियत से वकील के तौर पर पेश हुए थे।

और उन्हें तत्काल प्रभाव से पार्टी की सभी जिम्मेदारियों से मुक्त और निष्कासित किया जाता है। मिशेल को इस मामले में संयुक्त अरब अमीरात से प्रत्यर्पित करके मंगलवार देर रात भारत लाया गया।

जोसेफ़ कोर्ट में मिशेल की ओर से पेश हुए। उन्होंने और एक अन्य वकील विष्णु शंकरन ने मिशेल को सीबीआई की हिरासत में देने का विरोध किया। उनका तर्क था कि उन्हें सीबीआई की ओर से कोई दस्तावेज नहीं मिले हैं और मिशेल को न्यायिक हिरासत में रखा जाना चाहिए। जोसेफ़ के मिशेल की ओर से कोर्ट में पेश होने को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया दी।

गौरतलब है कि अगस्ता वेस्टलैंड को ठेका दिलाने और भारतीय अधिकारियों को गैरकानूनी कमीशन या रिश्वत का भुगतान करने के लिए बिचौलिये के तौर पर मिशेल की संलिप्तता 2012 में सामने आयी थी।

नई दिल्ली। भारतीय युवक कांग्रेस ने संगठन की विधिक इकाई के राष्ट्रीय प्रभारी अल्जो के जोसेफ़ को पार्टी से निकाल दिया है। जोसेफ़ अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे के कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल की ओर से बुधवार को कोर्ट में पेश हुए थे।यूएई से प्रत्यर्पण के बाद भारत लाये गये मिशेल के वकील के तौर पर पेश हुए जोसेफ भारतीय युवा कांग्रेस के विधि विभाग के प्रभारी की भूमिका में थे। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के संयुक्त सचिव एवं युवा कांग्रेस के प्रभारी कृष्णा अल्लावरू ने कहा कि जोसेफ अपनी निजी हैसियत से वकील के तौर पर पेश हुए थे।और उन्हें तत्काल प्रभाव से पार्टी की सभी जिम्मेदारियों से मुक्त और निष्कासित किया जाता है। मिशेल को इस मामले में संयुक्त अरब अमीरात से प्रत्यर्पित करके मंगलवार देर रात भारत लाया गया।जोसेफ़ कोर्ट में मिशेल की ओर से पेश हुए। उन्होंने और एक अन्य वकील विष्णु शंकरन ने मिशेल को सीबीआई की हिरासत में देने का विरोध किया। उनका तर्क था कि उन्हें सीबीआई की ओर से कोई दस्तावेज नहीं मिले हैं और मिशेल को न्यायिक हिरासत में रखा जाना चाहिए। जोसेफ़ के मिशेल की ओर से कोर्ट में पेश होने को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया दी।गौरतलब है कि अगस्ता वेस्टलैंड को ठेका दिलाने और भारतीय अधिकारियों को गैरकानूनी कमीशन या रिश्वत का भुगतान करने के लिए बिचौलिये के तौर पर मिशेल की संलिप्तता 2012 में सामने आयी थी।