1. हिन्दी समाचार
  2. गैलरी
  3. Zareen Khan Birthday Special: फिल्मों में आने से पहले 1 क्विंटल था जरीन खान का वजन, इस एक्सरसाइज के चलते 43 किलो किए थे कम

Zareen Khan Birthday Special: फिल्मों में आने से पहले 1 क्विंटल था जरीन खान का वजन, इस एक्सरसाइज के चलते 43 किलो किए थे कम

 सलमान खान (Salman Khan) के साथ बॉलीवुड में डेब्यू करने वाली जरीन खान (Zarine Khan) आज अपना 35 वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहीं हैं। जरीन (Zarine Khan)  का जन्म 14 मई 1987 को मुंबई में भुआ था, आपको बता दें बॉलीवुड में जरीन खान ने फिल्म 'वीर' से इंट्री की थी। वहीं इसके बाद  'हाउसफुल 2', 'हेट स्टोरी 3', 'अक्सर 2', 'वजह तुम हो' आदि हिंदी फिल्मों में नजर आई थीं।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

Zareen Khan Birthday Special: सलमान खान (Salman Khan) के साथ बॉलीवुड में डेब्यू करने वाली जरीन खान (Zarine Khan) आज अपना 35 वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहीं हैं। जरीन (Zarine Khan)  का जन्म 14 मई 1987 को मुंबई में भुआ था, आपको बता दें बॉलीवुड में जरीन खान ने फिल्म ‘वीर’ से इंट्री की थी। वहीं इसके बाद  ‘हाउसफुल 2’, ‘हेट स्टोरी 3’, ‘अक्सर 2’, ‘वजह तुम हो’ आदि हिंदी फिल्मों में नजर आई थीं।

पढ़ें :- Katrina की Pregnancy को लेकर पति Vicky Kaushal ने बताया पूरा सच, कहा- इसमें कोई सच्चाई...

आपको  बता दें, बॉलीवुड में कदम रखने से पहले जरीन खान का वजन बहुत ज्यादा हुआ करता था। खबरों की माने तो जरीन (Zarine Khan)  फिल्मों में आने से पहले तरीबन  100 kg की हुआ करती थी  मगर बहुत कम समय में एक्सरसाइज और डाइट की मदद से उन्होंने अपना वजन लगभग 43 किलो कम कर लिया था।

फिल्म वीर की रिलीज के बाद जरीन के मोटापे को लेकर सोशल मीडिया पर कुछ कमेंट्स भी किए गए। मगर बाद के दिनों में इस अभिनेत्री ने अपनी फिटनेस और बोल्ड लुक्स से सभी को दीवाना बना दिया। जरीन की वेट लॉस जर्नी काफी रोमांचक है। आइए आपको बताते हैं कैसे घटाया जरीन ने बेहद कम समय में 43 किलो वजन।

यास्मीन कराचीवाला के चलते कम किया वजन 

जरीन खान (Zarine Khan) के इस वेट लॉस के पीछे यास्मीन कराचीवाला का सबसे बड़ा योगदान है। जरीन ने पिलाटे, वेट ट्रेनिंग और कार्डियो वर्कआउट की मदद से अपना वजन कम किया है। आइए विस्तार से जानते हैं क्या हैं ये एक्सरसाइज और क्या है इन्हें करने का सही तरीका

इसे करने के लिए अपनी लेफ्ट तरफ बॉल रखकर बैठें और अपने लेफ्ट पैर को अपने सामने मोड़ें। आपका राइट पैर आपके पीछे की तरफ रहेगा। अपना लेफ्ट हाथ बॉल पर रखें, कोहनियों को थोड़ा सा मोड़ें। अपने कंधे की ऊंचाई तक अपने राइट हाथ को फैलाएं। बॉल को लेफ्ट से राइट की तरफ हाथ के पास ले जाएं। दो तीन सैकेंड के लिए रूकें और फिर वापस उसी स्थिति में आ जाएं। अब एक मैट पर पीठ के बल लेट जाएं।

हाथ साइड में रखें और हथेलियां जमीन की तरफ। पैर सीधे। अब धीरे धीरे पैर को उठाने की कोशिश करें, तब तक जब तक आपके पैर के पंजे सिर के ऊपर जमीन की तरफ न पहुंच दाएं। अपने कंधों को रिलेक्स रखें और पैरों को सीधा। धीरे धीरे पुरानी अवस्था में लौट आएं। आइए जानते हैं क्या हैं इसके लाभ—

कार्डियो वर्कआउटके लाभ 

    • आपके कूल्‍हों का आकार कैसा है, यह भी आपकी सुन्‍दरता पर असर डालता है। पिलाटे एक्सरसाइज की मदद से अविकसित कूल्‍हों के आकार में बदलाव किया जा सकता है। नियमित तौर पर पिलाटे एक्सरसाइज करने से आप कुछ ही हफ्तों में अपने नितंबों के आकार में परिवर्तन महसूस करेंगे।
    • वैसे तो हर प्रकार का व्‍यायाम ही शरीर को मजबूत बनाता है, लेकिन पिलाटे एक्‍सरसाइज आपके शरीर को अन्‍य व्‍यायाम की तुलना में ज्‍यादा मजबूत बनाती हैं। इसे आप व्‍यायाम करने के साथ दिन ब दिन महसूस भी कर सकते हैं और आपकी प्रतिदिन की जिंदगी में सुधार आता है।
    • यदि आप भी अपनी मांसपेशियों को आकर्षक और मजबूत बनाना चाहते हैं तो इसके लिए पिलाटे एक्सरसाइज अच्‍छा विकल्‍प है। पिलाटे एक्सरसाइज करने से आपकी मसल्‍स पतली बनी रहती हैं, सा‍थ ही आप लंबे और आकर्षक लगते हैं।

वेट ट्रेनिंग और इसके लाभ

वेट ट्रेनिंग किसी भी फिटनेस प्रोग्राम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। एरोबिक व्यायाम के वेट ट्रेनिंग एक्‍सरसाइज ताकत को बढ़ाने, मांसपेशियों को टोन करने और वसा कम करने में मदद करता हैं। वेट ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू करने से पहले पांच से दस मिनट वर्मअप करें इसके लिए स्‍ट्रेचिंग या ब्रिस्क वाकिंग करें। वेट ट्रेनिंग के परिणाम अपेक्षाकृत तेजी से और ध्यान देने योग्य होते हैं।

पढ़ें :- Neha Kakkar और Rohanpreet जल्द बनने वाले हैं पेरेंट्स, फैमिली ने तोड़ी चुप्पी सिंगर बोले- एक बेबी हुआ है

इसे करने से मांशपेशिया मज़बूत बनती हैं और चोट लगने की आशंका भी कम होता है। इसके अलावा यूनिवर्सिटी ऑफ जॉर्जिया द्वारा किये गये शोध के मुताबिक, वेट ट्रेनिंग से याद्दाश्‍त बढ़ती है। शोध के अनुसार मात्र 20 मिनट तक वजन उठाकर आप अपनी याद्दाश्‍त 10 प्रतिशत तक बढ़ा सकते हैं। शोध के शोधकर्ताओं का मानना है कि वेट ट्रेनिंग से एपिसोडिक मेमोरी (लांग टर्म या अधिक समय तक रहने वाली याद्दाश्‍त) 10 प्रतिशत तक बढ़ती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...