1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Adar Poonawalla, बोले-‘कोविड महामारी को खात्मे के​ लिए तीब्र गति से टीकाकरण एक मात्र विकल्प

Adar Poonawalla, बोले-‘कोविड महामारी को खात्मे के​ लिए तीब्र गति से टीकाकरण एक मात्र विकल्प

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) अदार पूनावाला ने कहा कि कोरोना महामारी के खात्मे के लिए, अरबों लोगों को तेज गति से टीकाकरण की आवश्यकता है। पूनावाला ने कहा कि कोविड वैक्सीन की आपूर्ति अब कोई बाधा नहीं है और हम मांगों को पूरा करने के लिए पिछले साल की तुलना में काफी बेहतर जगह पर हैं। उन्होंने टीके के परीक्षण के लिए एक स्पष्ट मानक स्थापित करने और वैक्सीन अनुमोदन और वितरण के लिए सामंजस्यपूर्ण ढांचे की स्थापना का भी आह्वान किया। पूनावाला ने विश्व आर्थिक मंच (WEF) द्वारा आयोजित 'वैक्सीन इक्विटी की चुनौती का सामना' पर एक सत्र में बतौर पैनलिस्ट संबोधित करते हुए कही।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) अदार पूनावाला ने कहा कि कोरोना महामारी के खात्मे के लिए, अरबों लोगों को तेज गति से टीकाकरण की आवश्यकता है। पूनावाला ने कहा कि कोविड वैक्सीन की आपूर्ति अब कोई बाधा नहीं है और हम मांगों को पूरा करने के लिए पिछले साल की तुलना में काफी बेहतर जगह पर हैं।

पढ़ें :- Adar Poonawalla ने बताया कब आएगी 3 साल से अधिक उम्र के बच्चों के लिए Covid-19 Vaccine?

उन्होंने टीके के परीक्षण के लिए एक स्पष्ट मानक स्थापित करने और वैक्सीन अनुमोदन और वितरण के लिए सामंजस्यपूर्ण ढांचे की स्थापना का भी आह्वान किया। पूनावाला ने विश्व आर्थिक मंच (WEF) द्वारा आयोजित ‘वैक्सीन इक्विटी की चुनौती का सामना’ पर एक सत्र में बतौर पैनलिस्ट संबोधित करते हुए कही।

पूनावाला ने कहा कि सभी सरकारों को निर्यात प्रतिबंधों पर समझौतों के लिए एक साथ आना चाहिए जो महामारी से बेहतर तरीके से निपटने में मदद कर सकें। उन्होंने यात्रा और आवाजाही को सुविधाजनक बनाने के लिए वैक्सीन प्रमाणपत्रों के लिए एक केंद्रीकृत नियामक निकाय स्थापित करने की भी जोरदार वकालत की है। पूनावाला ने स्वीकार किया कि उनकी एसआईआई, जो कोविशील्ड का निर्माण कर रही है। पिछले साल उत्पादन में कटौती करनी पड़ी थी, लेकिन “पहली तिमाही में, वैक्सीन निर्माता अफ्रीकी महाद्वीप को कोवैक्स के माध्यम से एक अरब से अधिक खुराक की आपूर्ति कर सकता है।

डब्ल्यूएचओ स्वास्थ्य आपात कार्यक्रम के कार्यकारी निदेशक माइकल रयान ने कहा कि टीकों की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि टीकों के बिना इस महामारी को समाप्त करने का कोई तरीका नहीं है। पैनलिस्टों ने कहा कि कोविड -19 टीकों का तेजी से विकास एक वैज्ञानिक उपलब्धि थी। यहां तक ​​​​की वे इस बात से सहमत थे कि सार्वभौमिक वैश्विक वितरण जोखिमों को सुनिश्चित करने में विफलता न केवल खराब स्वास्थ्य परिणाम बल्कि आर्थिक उथल-पुथल और भू-राजनीतिक तनाव भी है।

पैनलिस्टों में गैब्रिएला बुचर, कार्यकारी निदेशक, ऑक्सफैम इंटरनेशनल; सेठ एफ बर्कले मुख्य कार्यकारी अधिकारी, जीएवीआई, वैक्सीन एलायंस; और जॉन निकेंगसॉन्ग, निदेशक, अफ्रीका सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन।

पढ़ें :- सऊदी अरब सरकार ने 'Tablighi Jamaat' पर लगाया प्रतिबंध , बताया आतंकवाद का जनक

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...