1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. बड़ी बेटी के बाद छोटी को भी बनाना चाहता था पिता हवस का शिकार, हुई हत्या

बड़ी बेटी के बाद छोटी को भी बनाना चाहता था पिता हवस का शिकार, हुई हत्या

कई सालों से अपनी बड़ी बेटी का शारीरिक शोषण कर रहे पिता की लाश जमीन में गड़ी हुई मिली। बड़ी के बाद छोटी को अपने हवस का शिकार बनाने की कोशिश कर रहे पिता ने जब जबरदस्ती करना चाहा तो मां ने बेटी के एक दोस्त के साथ मिलकर पिता की हत्या कर दी। कुत्तों के द्वारा जमीन की खुदाई करने पर लाश की हांथ बाहर दिखने लगी।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

गोरखपुर। कई सालों से अपनी बड़ी बेटी का शारीरिक शोषण कर रहे पिता की लाश जमीन में गड़ी हुई मिली। बड़ी के बाद छोटी को अपने हवस का शिकार बनाने की कोशिश कर रहे पिता ने जब जबरदस्ती करना चाहा तो मां ने बेटी के एक दोस्त के साथ मिलकर पिता की हत्या कर दी। कुत्तों के द्वारा जमीन की खुदाई करने पर लाश की हांथ बाहर दिखने लगी। जिसकी जांच करने गई पुलिस ने मामले की गुत्थी को सुलझाना शुरु किया तो पता चला कि जमीनदोज पुरुष की हत्या उसके परिवार ने ही की है। पुलिस ने शव को बाहर निकाला तो उसकी पहचान हुई। पता चला कि वह दो दिन पहले मजदूरी करने शहर निकला था।

पढ़ें :- गोरखपुर में सीएम योगी की सुरक्षा में बड़ी चूक, 8 पुलिसक​र्मी किए गए सस्पेंड

पुलिस ने हत्या और शव छिपाने की धारा में केस दर्ज कर जांच शुरू किया तो चौंकाने वाली जानकारी सामने आई। सर्विलांस और सीडीआर की मदद से पुलिस ने महराजगंज कोतवाली के बांसपार बजौली टोला बेलहिया निवासी सरफुद्दीन अंसारी उर्फ लालू पुत्र सलाउद्दीन अंसारी को हिरासत में लिया। पूछताछ में मजदूर की बेटी का दोस्त निकला। उसने बताया कि बेटी से अवैध संबंधों की वजह से मजदूर की हत्या हुई है। उसने मजदूर की पत्नी और बेटी के शामिल होने की जानकारी दी। पुलिस ने उन दोनों को भी हिरासत में ले लिया और पूछताछ शुरू की तो उन्होंने जुर्म कबूल कर लिया।

मां के सामने बेटी के साथ दुष्कर्म करता था पिता
मजदूर की पत्नी ने बताया कि उसका पति कुकर्मी था। उसे जिंदा रहने का कोई हक नहीं था। वह दस साल से अपनी बड़ी बेटी के साथ दुष्कर्म कर रहा था। अब छोटी बेटी पर भी बुरी नजर रख रहा था। जब इस मामले में विरोध किया जाता तो वह हम-मां-बेटी को मारता पीटता था।

उसकी हरकतों से तंग आकर हमने उसकी हत्या की योजना बनाई थी। मजदूर की पत्नी ने बताया कि सरफुद्दीन बड़ी बेटी का परिचत है। उसे इस घटना के बारे में बताया और हत्या के लिए तैयार किया था। 14 फरवरी की रात जब वह नशे की हाल में सो गया तब बेटी ने सरफुद्दीन उर्फ लालू को फोन कर महराजगंज से बुला लिया। रात में सोने के बाद पत्नी, बड़ी बेटी व बेटी के मित्र ने मिलकर गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या के बाद तीनों शव को बाइक पर लादकर खेत में ले गए और सिर कूंच दिया ताकि पहचान न हो सके।

विरोध करने पर बेटे को भी पीटा था
मजदूर की यह करतूत पूरा घर जानता था पर डर की वजह से कुछ कर नहीं पता था। पुलिस के मुताबिक जिस बेटी के साथ वह घटना करता था वह 22 साल की है जब वह नाबालिग थी तभी उसे उसके साथ वह दुष्कर्म कर रहा था। उसका बड़ा बेटा जो कि 20 साल है कि उसने अपने पिता का विरोध किया तो उसकी पिटाई कर अंगुली भी काट दिया था। उसके बाद बेटा घर से भागकर हैदराबाद चला गया।

पढ़ें :- गीता प्रेस पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, कहा-पिछले जन्म के पूर्ण का फल है जो मैं कार्यक्रम का हिस्सा बना

घर पर पत्नी, बड़ी बेटी के अलावा छोटी बेटी रहते थी। इस बीच उसने छोटी बेटी पर भी अपनी गंदी नीयत डालनी शुरू कर दी थी। आजिज आकर पत्नी व बड़ी बेटी ने हत्या की योजना बनाई। एसपी नार्थ मनोज कुमार अवस्थी ने बताया कि 17 फरवरी को पिपराइच इलाके में एक मजदूर का शव मिला था। शव को जमीन में दबाया गया था। कुत्तों की वजह से हाथ बाहर दिख रहा था जिसके बाद लोगों को जानकारी हुई।

 

 

 

 

पढ़ें :- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के स्वागत में दुल्हन की तरह सजाया गया गोरखपुर

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...