1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. बीजेपी का दावा- झारखंड में भाभी जी के ताजपोशी की हुई तैयारी, परिवारवादी पार्टी का बेहतरीन नुस्ख़ा

बीजेपी का दावा- झारखंड में भाभी जी के ताजपोशी की हुई तैयारी, परिवारवादी पार्टी का बेहतरीन नुस्ख़ा

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को सीएम पद छोड़ना पड़ सकता है। यह बड़ा दावा शनिवार को बीजेपी सांसद के तरफ से किया गया है। उन्होंने कहा कि खनन लीज आवंटन मामले में चुनाव आयोग में सुनवाई पूरी हो चुकी है। आयोग कभी भी फैसला दे सकता है। यदि प्रतिकूल फैसला आता है तो सोरेन को अयोग्य घोषित किया जा सकता है। ऐसे में प्रदेश की राजनीति में सरगर्मी बढ़ गई है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मुंबई। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को सीएम पद छोड़ना पड़ सकता है। यह बड़ा दावा शनिवार को बीजेपी सांसद के तरफ से किया गया है। उन्होंने कहा कि खनन लीज आवंटन मामले में चुनाव आयोग में सुनवाई पूरी हो चुकी है। आयोग कभी भी फैसला दे सकता है। यदि प्रतिकूल फैसला आता है तो सोरेन को अयोग्य घोषित किया जा सकता है। ऐसे में प्रदेश की राजनीति में सरगर्मी बढ़ गई है।

पढ़ें :- सीमांचल में अमित शाह का आज दूसरा दिन, लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर बन रही अहम रणनीति

इसी बीच बीजेपी ने दावा किया है कि सोरेन की जगह उनकी पत्नी कल्पना को सूबे की बागडोर सौंपी जा सकती है। वहीं शनिवार को सीएम ने सत्तारूढ़ दलों के विधायकों की बैठक बुलायी है। जिसमें महागठबंधन दल के विधायकों को एकजुट रखने की कोशिश की जाएगी।

बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने दावा किया  कि झारखंड में भाभी की ताजपोशी कराई जाएगी। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि झारखंड में भाभी जी के ताजपोशी की तैयारी, परिवारवादी पार्टी का बेहतरीन नुस्खा गरीब के लिए। इससे पहले बीजेपी सांसद ने बरहेट और दुमका विधानसभा में उपचुनाव होने का दावा किया था। उन्होंने कहा था कि झारखंड मुक्ति मोर्चा औरो कांग्रेस दिल्ली- रांची क्यों दौड़ रहा है रे भाई। हम बोले बरहेट, दुमका विधानसभा में उपचुनाव होगा तो हमको कांके भेज रहे थे? अब तो विधानसभा अध्यक्ष को कनाडा जाने से रोक दिए? इस्तीफे विकल्प है, दैइए दीजिए।

सुखाड़ को लेकर बुलाई बैठक

झामुमो नेता सुप्रियो भट्टाचार्य का कहना है कि सीएम ने सुखाड़ को लेकर बैठक बुलाई है। हालांकि झामुमो की राज्यसभा सदस्य महुआ माजी ने कहा कि बैठक विधायकों को एकजुट रखने को लेकर हो रही है। वहीं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर का कहना है कि सभी विधायक एकजुट हैं। निलंबित तीनों विधायक भी हमारे खेमे में हैं। दूसरी ओर बीजेपी पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए है।

पढ़ें :- बिहार में नीतीश से मिले धोखे का दर्द अमित शाह की जुबान पर आया, लालू यादव को दी बड़ी 'नसीहत'

प्रतिकूल स्थिति में क्या होगी रणनीति

सीएम सोरेन की विधायकी पर प्रतिकूल निर्णय की स्थिति में सरकार की रणनीति क्या होगी, कैसे इस परिस्थिति से निपटा जायेगा, इसे लेकर बैठक में सभी पहलुओं पर चर्चा की जाएगी। माना जा रहा है कि तमाम परिस्थितियों में एकजुटता के साथ मजबूती से मुकाबला करने की रणनीति बनाई जाएगी। इसके लिये सत्तारूढ़ विधायक दल की बैठक मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में उनके आवास पर 11 बजे से निर्धारित है। इसमें सत्तारूढ़ दल के सभी विधायकों को मौजूद रहने का निर्देश दिया गया है।

हेमंत सरकार अस्थिर करने के प्रयास में तीन मुकदमे

हेमंत सरकार को अस्थिर करने के प्रयास में तीन मुकदमे रांची के विभिन्न थानों में दर्ज हैं। दो प्राथमिकी कांग्रेस के विधायक कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह और एक प्राथमिकी झामुमो के विधायक रामदास सोरेन ने दर्ज कराई है।

पढ़ें :- जनहित के मुद्दों को लेकर सड़क से सदन तक निरंतर संघर्ष करती रहेगी सपा : अखिलेश यादव
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...