1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. LU Administration का सराहनीय कदम, COVID में गई जिन बच्चों के माता पिता की जान उन्हे LU ले रहा गोद

LU Administration का सराहनीय कदम, COVID में गई जिन बच्चों के माता पिता की जान उन्हे LU ले रहा गोद

कोविड के प्रचंड रूप के चलते सभी ने कुछ न कुछ खोया किसी ने अपना सुहाग खो दिया तो किसी ने अपने माता पिता। दरअसल, लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन ने कोरोना में मां-बाप को खोने वाले छात्र-छात्राओं के लिए एक सराहनीय कदम उठाया है।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

लखनऊ: कोविड के प्रचंड रूप के चलते सभी ने कुछ न कुछ खोया किसी ने अपना सुहाग खो दिया तो किसी ने अपने माता पिता। दरअसल, लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन ने कोरोना में मां-बाप को खोने वाले छात्र-छात्राओं के लिए एक सराहनीय कदम उठाया है।

पढ़ें :- Asian Countries: एशियाई देशों में लौटा कोरोना का कहर, रोजाना दर्ज हो रहे हजारों मामले
Jai Ho India App Panchang

आपको बता दें, कोविड-19 में जिन बच्चों ने अपने माता या पिता या दोनों को खोया है, उन्हें यूनिवर्सिटी गोद ले रही है और उनका पढ़ाई का पूरा खर्च भी उठाने वाली है। खास बात यह है कि इसकी शुरुआत का पहला कदम वाइस चांसलर प्रो. आलोक कुमार राय, रजिस्ट्रार डॉ. विनोद कुमार सिंह, आदि ने उठाया है।

कुलपति ने दी मंजूरी

बीते शुक्रवार को कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय की अध्यक्षता में कार्य परिषद की मीटिंग में इस सराहनीय पहल को मंजूरी मिली। कुलपति ने खुद कार्य परिषद सदस्यों को इससे अवगत कराया और सभी अधिकारियों, शिक्षकों से अपील की कि इसके लिए आगे आएं। इसी क्रम में चीफ प्रॉक्टर प्रो. दिनेश कुमार और अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. पूनम टंडन ने भी एक-एक छात्र की शिक्षा के खर्च का जिम्मा उठाया है।

बताया जा रहा है कि गोद लिए गए छात्र-छात्रा की साल भर की फीस और बाकी एजुकेशन रिलेटेड फीस भी शिक्षण भरेंगे। बता दें, यूनिवर्सिटी ने गूगल फॉर्म के जरिए 70 छात्रों की डिटेल्स जमा की हैं. इसी के साथ यह भी फैसला किया गया कि कोविड महामारी में जिन शिक्षकों या स्टाफ की मृत्यु हुई है, उनके आश्रितों को भी जल्द नौकरी मिलेगी।

पढ़ें :- वुहान लैब की जांच का प्रस्ताव चीन ने किया खारिज, बोला- ये विज्ञान का है अपमान
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...