1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. COVID-19 Vaccine : भारत में 5 से 18 साल के बच्चों के लिए जल्द आएगी नेजल वैक्सीन, बायोटेक ने मांगी अनुमति

COVID-19 Vaccine : भारत में 5 से 18 साल के बच्चों के लिए जल्द आएगी नेजल वैक्सीन, बायोटेक ने मांगी अनुमति

COVID-19 Vaccine : भारत में पांच से 18 साल तक के बच्चों के लिए भी जल्द नाक से दी जाने वाली कोरोना वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) उपलब्ध होगी। भारत बायोटक (Bharat Biotech)  ने तीसरे चरण के अध्ययन के लिए ड्रग कंट्रोलर (Drug Controller) से अनुमति मांगी है। छह सितंबर को, भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) ने 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए इंट्रानैसल कोविड वैक्सीन iNCOVACC को मंजूरी दी थी।

By संतोष सिंह 
Updated Date

COVID-19 Vaccine : भारत में पांच से 18 साल तक के बच्चों के लिए भी जल्द नाक से दी जाने वाली कोरोना वैक्सीन (COVID-19 Vaccine) उपलब्ध होगी। भारत बायोटक (Bharat Biotech)  ने तीसरे चरण के अध्ययन के लिए ड्रग कंट्रोलर (Drug Controller) से अनुमति मांगी है। छह सितंबर को, भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) ने 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए इंट्रानैसल कोविड वैक्सीन iNCOVACC को मंजूरी दी थी।

पढ़ें :- India : First Intranasal Vaccine के फेज-2 ट्रायल को मिली मंजूरी, जानें कौन कर रहा है विकसित ?

सूत्रों के मुताबिक, भारत बायोटेक (Bharat Biotech)  ने अब पांच से 18 साल तक की आयु वर्ग के लिए iNCOVACC की सुरक्षा, प्रतिक्रियात्मकता (Reactivity)और इम्युनोजेनेसिटी का मूल्यांकन (Immunogenicity Assessment)करने के लिए तीसरे चरण की अनुमति के लिए आवेदन दिया है।

इस वैक्सीन ये बातें  बनाती हैं बेहद खास 
भारत बायोटेक (Bharat Biotech) द्वारा साझा की गई जानकारियों के मुताबिक यह नेजल वैक्सीन ( Nasal Vaccine) , अब तक प्रयोग में लाई जा रही अन्य वैक्सीन्स से काफी अलग और प्रभावी है। कुछ बातें इसे बेहद खास बनाती हैं।

  1. यह वैक्सीन चूंकि नाक के माध्यम से दी जाती है जो नाक के भीतर प्रतिरक्षा प्रणाली तैयार करके वायरस के प्रवेश करते ही उसे निष्क्रिय कर देगी।
  2. अब तक दी जा रही वैक्सीन्स से अलग, इसके लिए निडिल की आवश्यकता नहीं होगी।
  3. इसे उपयोग में लाना भी आसान है घर पर भी इसको प्रयोग किया जा सकेगा। इसके लिए प्रशिक्षित स्वास्थ्य देखभाल कर्मचारियों की आवश्यकता भी नहीं है।
  4. सुई से संबिधित जोखिमों जैसे संक्रमण, या वैक्सीनेशन के बाद होने वाले दर्द से मुक्ति मिलेगी।
  5. बच्चों और वयस्कों के लिए आदर्श रूप से उपयुक्त है।
  6. सबसे खास बात यह वायरस को शरीर में प्रवेश करने से पहले ही मारने की क्षमता वाली है, ऐसे में इससे शरीर के अंगों को होने वाली समस्याओं का जोखिम नहीं होगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...