1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. भारत की बड़ी कामयाबी : संयुक्त राष्ट्र ने Abdul Rehman Makki को घोषित किया वैश्विक आतंकवादी

भारत की बड़ी कामयाबी : संयुक्त राष्ट्र ने Abdul Rehman Makki को घोषित किया वैश्विक आतंकवादी

Abdul Rehman Makki: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने सोमवार को पाकिस्तान के आतंकवादी अब्दुल रहमान मक्की (Abdul Rehman Makki)  को वैश्विक आतंकवादी (Global Terrorist)  के रूप में सूचीबद्ध कर दिया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Abdul Rehman Makki: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने सोमवार को पाकिस्तान के आतंकवादी अब्दुल रहमान मक्की (Abdul Rehman Makki)  को वैश्विक आतंकवादी (Global Terrorist)  के रूप में सूचीबद्ध कर दिया है।

पढ़ें :- यूपी देश के टॉप-4 राज्यों में शामिल, 75 लाख से अधिक नल कनेक्शन देने का आंकड़ा किया पार

भारत ने पिछले साल लश्कर-ए-तैयबा (LTE) के नेता को वैश्विक आतंकवादी (Global Terrorist) घोषित करने की मांग की थी, लेकिन चीन ने बीच में अडंगा लगा दिया था। जून 2022 में, भारत ने संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंध समिति, जिसे यूएनएससी (UNSC)  1267 समिति के रूप में भी जाना जाता है। इसके तहत तहत पाक आतंकवादी अब्दुल रहमान मक्की (Pak terrorist Abdul Rehman Makki)   को लिस्टेड करने के प्रस्ताव को चीन के रोके जाने की अंतरराष्ट्रीय मंचों पर आलोचना की थी।

“16 जनवरी 2023 को, सुरक्षा परिषद समिति (Security Council Committee) ने आईएसआईएल (दा’एश), अल-कायदा, और संबंधित व्यक्तियों, ग्रुप, उपक्रमों और संस्थाओं से संबंधित संकल्प 1267 (1999), 1989 (2011) और 2253 (2015) को फॉलो करते हुए इसे मंजूरी दे दी. संयुक्त राष्ट्र ने एक बयान में कहा, सुरक्षा परिषद (Security Council) के प्रस्ताव 2610 (2021) के पैरा 1 में निर्धारित और अपनाई गई प्रॉपर्टी फ्रीज, यात्रा बैन और हथियार बैन के अधीन इसके (दा’एश) और अल-कायदा की लिस्ट के अलावा संयुक्त राष्ट्र के चार्टर के अध्याय VII के तहत बैन किया गया है।

भारत-अमेरिका में पहले से ही बैन

बता दें कि भारत और अमेरिका पहले ही अब्दुल रहमान मक्की को अपने देश में कानूनों के तहत आतंकवादी घोषित कर चुके हैं। मक्की भारत में आतंकी गतिविधियों में शामिल रहा है, जिसमें आतंकी हमलों के लिए धन जुटाने, भर्ती करने और युवाओं को हिंसा के लिए कट्टरपंथी बनाने और विशेष रूप से जम्मू और कश्मीर में हमलों की योजना बनाने में शामिल रहा है। अब्दुल रहमान मक्की लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) प्रमुख और 26/11 के मास्टरमाइंड हाफिज सईद (Mastermind Hafiz Saeed) का बहनोई है।

पढ़ें :- Shanti Bhushan Passes Away: पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण नहीं रहे, 97 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

चीन बना था रोड़ा

बता दें कि 16 जून 2022 को चीन ने पाकिस्तानी आतंकवादी मक्की को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UN Security Council)  की प्रतिबंधित सूची में शामिल करने के अमेरिका और भारत के संयुक्त प्रस्ताव को आखिरी क्षण में बाधित कर दिया था।अमेरिका और भारत ने सुरक्षा परिषद की अल कायदा प्रतिबंध समिति के तहत मक्की को एक वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने के लिए संयुक्त प्रस्ताव पेश किया था। 16 जून को चीन के अलावा सभी सदस्यों ने मक्की का नाम आतंकी पेरिस में जोड़े जाने का समर्थन किया। भारत ने मक्की को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UN Security Council) के प्रस्ताव 1267 के तहत आतंकी फेहरिस्त में रखे जाने का प्रस्ताव को सभी सदस्यों के बीच सर्कुलेट किया था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...