1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज की सीमा केंद्र सरकार ने बढ़ाई, जानिए वजह

कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज की सीमा केंद्र सरकार ने बढ़ाई, जानिए वजह

कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग के बीच देश में वैक्सीनेशन का काम तेजी से चल रहा है। केंद्र सरकार ने राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर बताया है कि कोविशील्ड का दूसरा डोज कब देना सबसे ज्यादा कारगर है। इस पत्र में कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज डेढ़ से दो महीने के बाद ज्यादा कारगर होता है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग के बीच देश में वैक्सीनेशन का काम तेजी से चल रहा है। केंद्र सरकार ने राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर बताया है कि कोविशील्ड का दूसरा डोज कब देना सबसे ज्यादा कारगर है। इस पत्र में कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज डेढ़ से दो महीने के बाद ज्यादा कारगर होता है। इस बीच सोमवार को केंद्र सरकार की ओर से सभी राज्य और केंद्र शासित सरकारों को अहम निर्देश भेजा गया है।

पढ़ें :- Video Viral : सपा नेता लालजी पटेल का बेहद विवादित बयान, बोले-रामचरितमानस को होलिका दहन के दिन जला दिया जाए

अब कोविशील्ड वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज़ के बीच के अंतर को बढ़ाने का फैसला लिया गया है। वैक्सीन को लेकर टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (NTAGI) और COVID-19 के लिए वैक्सीन प्रशासन पर राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह (NEGVAC)ने अपनी 20 वीं बैठक में यह जानकारी दी है।

केंद्र के निर्देश के अनुसार, कोविशील्ड की पहली और दूसरी डोज़ के बीच अब कम से कम 6 से 8 हफ्ते का अंतर होना चाहिए। मौजूदा वक्त में पहली और दूसरी डोज़ के बीच का अंतर 28 दिन का है। यानी अब एक से दूसरी डोज़ के बीच का अंतर एक महीने से बढ़ाकर लगभग दो महीने कर दिया गया है।

बता दें भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का मिशन 16 जनवरी से शुरू हुआ था, वहीं दूसरा फेज़ 1 मार्च से शुरू हुआ था। अभी तक देश में साढ़े चार करोड़ से अधिक कोरोना वैक्सीन के डोज दिए जा चुके हैं।

 

पढ़ें :- स्वामी प्रसाद मौर्य बोले- महिलाओं व शूद्रवर्ण के सम्मान की बात क्या की? पाखंडी व छद्मभेशी बाबाओं पर मानो पहाड़ ही टूट गया

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...