1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. स्वामी प्रसाद मौर्या फिर विरोधियों पर बरसे, कहा -आदिवासियों, दलितों-पिछड़ों व महिलाओं को अपमानित करने की साजिश का विरोध जारी रहेगा

स्वामी प्रसाद मौर्या फिर विरोधियों पर बरसे, कहा -आदिवासियों, दलितों-पिछड़ों व महिलाओं को अपमानित करने की साजिश का विरोध जारी रहेगा

समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्य (Samajwadi Party Legislative Council Member) स्वामी प्रसाद मौर्या (Swami Prasad Maurya) लगतार विरोधियों पर आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं। रविवार को उन्होंने ट्वीट कर बिना किसी का नाम लेते हुए अपरोक्ष रूप से ​बीजेपी (BJP) पर निशाना साधते हुए कहा कि धर्म की दुहाई देकर आदिवासियों, दलितों-पिछड़ों व महिलाओं को अपमानित किए जाने की साजिश का विरोध करता रहूंगा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्य (Samajwadi Party Legislative Council Member) स्वामी प्रसाद मौर्या (Swami Prasad Maurya) लगतार विरोधियों पर आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं। रविवार को उन्होंने ट्वीट कर बिना किसी का नाम लेते हुए अपरोक्ष रूप से ​बीजेपी (BJP) पर निशाना साधते हुए कहा कि धर्म की दुहाई देकर आदिवासियों, दलितों-पिछड़ों व महिलाओं को अपमानित किए जाने की साजिश का विरोध करता रहूंगा।

पढ़ें :- UP News: 24 मार्च से सभी निकायों में शुरू होगा 75000 शौचालयों का कायाकल्प के लिए अभियान

स्वामी प्रसाद मौर्या (Swami Prasad Maurya)  ने कहा कि जिस तरह कुत्तों के भौंकने से हाथी अपनी चाल नहीं बदलती उसी प्रकार इनको सम्मान दिलाने तक मैं भी अपनी बात नहीं बदलूंगा। बता दें कि रामचरित मानस पर विवादित बयान देने के कारण उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहा है। इसके साथ ही राजधानी लखनऊ के हजरतगंज थाने में उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की गयी है।यही नहीं कुछ लोगों ने इस बयान के विरोध में स्वामी प्रसाद मौर्य का सिर और गला काटने की धमकी तक दे दी। इसके बाद उनका पलटवार जारी है। उन्होंने कहा कि, दलितों एवं पिछड़ों के सम्मान की बात क्या कर दी, मानो भूचाल आ गया।

पढ़ें :- केशव ,बोले- अखिलेश का बस चले तो मेरी हत्या करवा दें, उनके मन में मेरे लिए बहुत भरा हुआ है जहर '2024 में सपा का होगा सफाया'

स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने ट्वीट कर लिखा है कि, ‘देश की महिलाओं, आदिवासियों, दलितों एवं पिछड़ों के सम्मान की बात क्या कर दी, मानो भूचाल आ गया। एक-एक करके संतो, महंतों, धर्माचार्यों का असली चेहरा बाहर आने लगा। सिर, नाक, कान काटने पर उतर आये। कहावत सही है कि, मुंह में राम बगल में छुरी। धर्म की चादर में छिपे, भेड़ियों से बनाओ दूरी।’ बता दें कि, इस समय स्वामी प्रसाद मौर्य इस समय समाजवादी पार्टी के कार्यालय पहुंचे हैं, जहां वो अखिलेश यादव से मुलाकात करेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...