HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. चीन की माउंटेन मैराथन पर मौसम का कहर, 21 धावक हारे जिंदगी की रेस

चीन की माउंटेन मैराथन पर मौसम का कहर, 21 धावक हारे जिंदगी की रेस

चीन में 100 किलोमीटर की क्रॉस कंट्री पर्वतीय मैराथन पर खराब मौसम कहर बन टूटा है। तेज हवा, भीषण बारिश और दूर-दूर तक फैले पहाड़ों के बीच मैराथन फतह करने को दौड़ रहे धावकों में से 21 जिंदगी की रेस हार गए। इसकी जानकारी अधिकारियों ने रविवार को  दी है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। चीन में 100 किलोमीटर की क्रॉस कंट्री पर्वतीय मैराथन पर खराब मौसम कहर बन टूटा है। तेज हवा, भीषण बारिश और दूर-दूर तक फैले पहाड़ों के बीच मैराथन फतह करने को दौड़ रहे धावकों में से 21 जिंदगी की रेस हार गए। इसकी जानकारी अधिकारियों ने रविवार को  दी है।

पढ़ें :- Braj Mandal Yatra: ब्रज मंडल यात्रा से पहले नूंह में इंटरनेट-SMS सेवा 24 घंटे के लिए बंद , सरकार अलर्ट

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक,  अधिकारियों ने बताया कि शनिवार को चीन के उत्तर-पश्चिमी गांसू प्रांत के बाइयिन शहर नजदीक एक पर्यटक स्थल ‘येलो रिवर स्टोन फॉरेस्ट’ में 100 किलोमीटर क्रॉस कंट्री पर्वतीय मैराथन का आयोजन किया गया। इसमें भाग लेने वाले प्रतिभागियों को तेज हवाओं और बर्फीली बारिश का सामना करना पड़ा। पर्वतीय मैराथन में कुल 172 लोगों ने भाग लिया था।

अचानक से खराब हुआ मौसम

बाइयिन शहर के मेयर झांग शुचेन ने बताया कि शनिवार दोपहर एक बजे दौड़ वाले इलाके में अचानक ओलावृष्टि एवं बर्फीली बारिश हुई तथा तेज हवाएं चलीं। वायुमंडलीय तापमान में अचानक गिरावट के कारण लोगों को दिक्कत होने लगी। उन्होंने बताया कि कुछ प्रतिभागियों से मदद के संदेश मिलने के तुरंत बाद मैराथन आयोजकों ने एक बचाव दल भेजा, जो 18 प्रतिभागियों को बचाने में कामयाब रहा।

कुछ धावकों के लापता होने के बाद रोकी स्पर्धा

पढ़ें :- IND W vs UAE W: इंडिया विमेंस ने यूएई को 78 रनों से चटायी धूल; Richa Ghosh ने खेली तूफानी पारी

झांग ने बताया कि शनिवार दोपहर करीब दो बजे दौड़ में भाग लेने वाले कुछ लोगों के लापता होने के बाद स्पर्धा रोक दी गई। उन्होंने बताया कि लापता लोगों की तलाश के लिए उपकरणों से लैस 1,200 से अधिक बचावकर्ताओं को काम में लगाया गया है। इलाके में रात को फिर से तापमान गिर गया, जिससे तलाश एवं बचाव अभियान और मुश्किल हो गया।

151 प्रतिभागियों को बचाया 

झांग ने बताया कि इस मैराथन में 172 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था, जिनमें से 151 को बचा लिया गया। इनमें से आठ को मामूली चोटें आईं हैं और उनका एक अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। वहीं 21 धावकों के शव बरामद किए गए हैं, जबकि एक लापता है।  इससे पहले, 2010 में चीन के इसी प्रांत में बाढ़ और भूस्खलन के चलते 1,000 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। चाइना डेली के मुताबिक, येलो रिवर स्टोन फॉरेस्ट अपने ऊबड़-खाबड़ पहाड़ी दृश्यों के लिए प्रसिद्ध है। कई चीनी टेलीविजन शो और फिल्मों में इसे दिखाया गया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...