1. हिन्दी समाचार
  2. खेल
  3. Wrestlers Protest : खेल मंत्रालय का बड़ा एक्शन, कुश्ती संघ के अतिरिक्त सचिव को किया सस्पेंड

Wrestlers Protest : खेल मंत्रालय का बड़ा एक्शन, कुश्ती संघ के अतिरिक्त सचिव को किया सस्पेंड

Wrestlers Protest News: दिल्ली में पहलवानों के धरने और उत्पीड़न के आरोपों के बाद खेल मंत्रालय ने शनिवार (21 जनवरी) को कुश्ती संघ के अतिरिक्त सचिव विनोद तोमर (Wrestling Association's Additional Secretary Vinod Tomar) को सस्पेंड (Suspended) कर दिया है। खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा शिकायतें विनोद तोमर (Vinod Tomar) से ही थी।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Wrestlers Protest News: दिल्ली में पहलवानों के धरने और उत्पीड़न के आरोपों के बाद खेल मंत्रालय ने शनिवार (21 जनवरी) को कुश्ती संघ के अतिरिक्त सचिव विनोद तोमर (Wrestling Association’s Additional Secretary Vinod Tomar) को सस्पेंड (Suspended) कर दिया है। खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा शिकायतें विनोद तोमर (Vinod Tomar) से ही थी। पहलवानों ने बीते दिन केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर (Union Sports Minister Anurag Thakur) के साथ बातचीत के बाद अपना धरना समाप्त करने का फैसला किया था।

पढ़ें :- जिस देश के युवा उत्साह और जोश से भरे हुए हों, उस देश की प्राथमिकता सदैव युवा ही होंगे: पीएम मोदी

इस बातचीत के बाद एक कमेटी की घोषणा की गई जो 4 हफ्ते में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। साथ ही जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती तब तक कुश्ती संघ का काम भी कमेटी देखेगी। खेल मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने कहा था कि इस मामले पर निगरानी समिति चार सप्ताह में रिपोर्ट देगी।

विनोद तोमर बोले आरोप निराधार

इस मामले पर भारतीय कुश्ती महासंघ (Wrestling Federation of India) के अतिरिक्त सचिव विनोद तोमर (Vinod Tomar) ने शनिवार को महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह (Federation President Brij Bhushan Sharan Singh) पर लगाए गए आरोपों को निराधार बताया था। तोमर ने कहा कि दिल्ली के जंतर मंतर पर धरने पर बैठे पहलवानों ने डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष के खिलाफ यौन उत्पीड़न और वित्तीय गड़बड़ी के आरोप लगाए थे, लेकिन उन्होंने अपने दावों का समर्थन करने के लिए कोई सबूत पेश नहीं किया है।

भारतीय कुश्ती महासंघ ने दिया जवाब

पढ़ें :- भारत के सभी बड़े पहलवानों ने Zagreb Open से अपना नाम वापस लिया, बोले- हमारी तैयारी पूरी नहीं

इस मामले पर भारतीय कुश्ती महासंघ (Wrestling Federation of India) ने खेल मंत्रालय को जवाब दिया था। जिसमें कहा गया कि कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh)निगरानी समिति की ओर से मामले की जांच किए जाने तक पद की जिम्मेदारियों से हट जाएंगे।

विनोद तोमर (Vinod Tomar)  ने कहा कि उन्होंने (Brij Bhushan Sharan Singh) इस्तीफा नहीं दिया है, लेकिन जब तक जांच होगी उन्होंने अपने आपको खुद फेडरेशन की दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों से अलग कर लिया है ताकि जांच में कोई बाधा ना आए। महासंघ ने कहा प्रदर्शन करने वाले पहलवान डब्ल्यूएफआई (WFI)  के मौजूदा प्रबंधन को बदनाम करने के लिये व्यक्तिगत हित में या किसी अनुचित दबाव में विरोध कर रहे हैं। इस विरोध प्रदर्शन में डब्ल्यूएफआई (WFI) के मौजूदा प्रबंधन को हटाने के लिए कुछ व्यक्तिगत और छिपे हुए एजेंडे हैं।

पहलवानों ने लगाए थे आरोप

गौरतलब है कि पहलवान विनेश फोगाट (Wrestler Vinesh Phogat) ने बुधवार को एक चौंकाने वाले खुलासे में रोते हुए आरोप लगाया था कि बृजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh) कई वर्षों से महिला पहलवानों का यौन शोषण कर रहे हैं, लेकिन इस खेल के प्रशासक और बीजेपी सांसद ने इन आरोपों को खारिज किया।

विनेश (Vinesh Phogat) ने दावा किया था कि उन्हें डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष (WFI President )  के इशारे पर उनके करीबी अधिकारियों से जान से मारने की धमकी मिली थी, क्योंकि उन्होंने टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) खेलों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) से मुलाकात के दौरान उनका ध्यान इन मुद्दों की ओर आकर्षित करने की हिम्मत दिखाई थी।

पढ़ें :- WFI Controversy : सरकार ने कुश्ती महासंघ का कामकाज देखने के लिए बनाई ओवरसाइट समिति, मैरी कॉम होंगी प्रमुख

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...