1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Big Breaking : छत्तीसगढ़ के डिप्टी सीएम टीएस सिंहदेव चुनाव हारे, सिर्फ इतना रहा हार का अंतर …

Big Breaking : छत्तीसगढ़ के डिप्टी सीएम टीएस सिंहदेव चुनाव हारे, सिर्फ इतना रहा हार का अंतर …

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव (Chhattisgarh  Assembly Elections) के नतीजे और रुझानों में भाजपा (BJP) को पूर्ण बहुमत मिलता हुआ दिख रहा है। इधर कांग्रेस की सत्ता जाने के साथ ही पार्टी को एक और बड़ा झटका लगा है। सूबे के उपमुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव (Deputy CM TS Singhdev) महज 122 मतों से चुनाव हार गए हैं। इसके साथ ही संभाग की 11 सीटों पर भाजपा (BJP)  आगे चल रही है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव (Chhattisgarh  Assembly Elections) के नतीजे और रुझानों में भाजपा (BJP) को पूर्ण बहुमत मिलता हुआ दिख रहा है। इधर कांग्रेस की सत्ता जाने के साथ ही पार्टी को एक और बड़ा झटका लगा है। सूबे के उपमुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव (Deputy CM TS Singhdev) महज 122 मतों से चुनाव हार गए हैं। इसके साथ ही संभाग की 11 सीटों पर भाजपा (BJP)  आगे चल रही है। 2018 के चुनाव में यहां सभी सीटों पर कांग्रेस (Congress) का कब्जा था। खाद्य मंत्री अमरजीत भगत को भी हार का सामना करना पड़ा है। दूसरी ओर भाजपा को रायपुर की सभी सात सीटों सहित 25 सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी है।

पढ़ें :- देखते हैं अगले 1-2 दिन में क्या होता है? बहुत देरी हो गई है...शीट शेयरिंग पर बोले सीएम केजरीवाल

छत्तीसगढ़ के उप मुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव (Chhattisgarh Deputy Chief Minister TS Singhdev) चुनाव हार गए हैं। भाजपा के राजेश अग्रवाल ने सिंहदेव को महज 122 वोटों से मात दी है। हालांकि सिंहदेव ने रिकाउंटिंग की मांग की है। बता दें कि सरगुजा संभाग (Surguja Division) में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया है। संभाग की 14 की 14 सीट कांग्रेस के हाथ से जा चुकी हैं।

कौन हैं टीएस सिंहदेव?

सरगुजा रियासत (Surguja State) के राजा टीएस सिंहदेव (TS Singhdev) उत्तर प्रदेश में जन्मे, मध्य प्रदेश में पढ़े लिखे और छत्तीसगढ़ की राजनीति में सिर्फ चेहरे के रूप में सामने नजर आए थे। बाद के दौर में उनका कद बढ़ता चला गया। शुरू से ही टीएस सिंहदेव की राजनीति में खासा रुचि नहीं थी। राजनीति में सक्रिय होने के बाद टीएस सिंहदेव (TS Singhdev) पहली बार अंबिकापुर नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष चुने गए। साल 2008, 2013 और साल 2018 में वह लगातार तीन बार विधायक चुने गए। इसके साथ ही साल 2014 में वह नेता प्रतिपक्ष रहे। साल 2018 में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद साढे़ चार सालों तक छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री के रूप के रूप में काम किया। बाद में पार्टी ने चुुनाव से कुछ समय पहले टीएस सिंहदेव को डिप्टी सीएम बना दिया था।

पढ़ें :- यूपी का 69,000 शिक्षक भर्ती भाजपा की आरक्षण विरोधी मानसिकता का सबूत है: राहुल गांधी
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...