HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Breaking News-नरेंद्र मोदी 9 जून को शाम 6 बजे ले सकते हैं पीएम पद की शपथ

Breaking News-नरेंद्र मोदी 9 जून को शाम 6 बजे ले सकते हैं पीएम पद की शपथ

लोकसभा चुनाव 2024 (Lok Sabha Elections 2024) का रिजल्ट जारी होने के बाद दिल्ली में सरकार बनाने की खींचातानी अभी भी जारी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक नरेंद्र मोदी (Narendra Modi)  9 जून को शाम 6 बजे प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2024 (Lok Sabha Elections 2024) का रिजल्ट जारी होने के बाद दिल्ली में सरकार बनाने की खींचातानी अभी भी जारी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक नरेंद्र मोदी (Narendra Modi)  9 जून को शाम 6 बजे प्रधानमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। बता दें कि इससे पहले शपथ ग्रहण की तारीख 8 जून को तय की गई थी। शपथ ग्रहण समारोह को भव्य बनाने की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। इसमें विदेशी मेहमानों को आमंत्रित किया गया है।

पढ़ें :- अखिलेश यादव ने महंत राजू दास की सुरक्षा हटाए जाने पर भाजपा को दी नसीहत, बोले- हार का बदला न लें अयोध्या के साधु-संतों से

बता दें कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) में 293 सीटें मिलीं। नरेंद्र मोदी (Narendra Modi)   को एनडीए का नेता चुना गया है। सभी घटक दलों ने अपने समर्थन का पत्र सौंप दिया है। अब मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। हालांकि उनके शपथ ग्रहण समारोह की तारीख को लेकर संशय बना हुआ था। बताया जा रहा कि अब मोदी नौ जून को शाम छह बजे तीसरी बार भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। इससे पहले यह कार्यक्रम आठ जून को होना था।

21 नेताओं हस्ताक्षर करके मोदी को गठबंधन का नेता स्वीकार किया

एक दिन पहले ही एनडीए (NDA) ने सर्वसम्मिति से नरेंद्र मोदी को अपना नेता मान लिया है। नई दिल्ली में बुधवार को हुई बैठक में एनडीए के 21 नेताओं ने एक पत्र पर हस्ताक्षर करके मोदी को अपना नेता स्वीकृत किया। जिससे नरेंद्र मोदी के एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया है। बैठक में सभी नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी को पिछले 10 सालों में उनके कार्यकाल और देश में विकास कार्यों के लिए उन्हें बधाई भी दी है।

भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) ने मंगलवार को लोकसभा 2024 के चुनाव परिणाम एलान किए थे। इसमें भाजपा को सबसे ज्यादा 240 सीटें और इसके बाद दूसरे नंबर पर 99 सीटों के साथ कांग्रेस दूसरे नंबर पर रही। हालांकि पिछली बार की अपेक्षा इस बार के चुनाव में भाजपा को 32 सीटों का नुकसान हुआ है। 2014 के बाद ऐसा पहली बार हुआ जब भाजपा को पूर्ण बहुमत नहीं मिली।

पढ़ें :- DA Hike in UP : योगी सरकार ने लाखों कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में की बंपर बढ़ोत्तरी,आदेश जारी
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...