HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Ganga Dussehra 2024 : गंगा दशहरा के दिन दान पुण्य का विशेष महत्व है, बाधाओं से मिलती है मुक्ति

Ganga Dussehra 2024 : गंगा दशहरा के दिन दान पुण्य का विशेष महत्व है, बाधाओं से मिलती है मुक्ति

गंगा दशहरा हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है जो ज्येष्ठ शुक्ल दशमी को मनाया जाता है। मान्यता है कि इसी दिन मां गंगा का अवतरण पृथ्वी पर हुआ था। गंगा को पृथ्वी का अमृत माना जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Ganga Dussehra 2024 : गंगा दशहरा हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है जो ज्येष्ठ शुक्ल दशमी को मनाया जाता है। मान्यता है कि इसी दिन मां गंगा का अवतरण पृथ्वी पर हुआ था। गंगा को पृथ्वी का अमृत माना जाता है। गंगा को मुक्ति दायिनी, पापनाशिनी कहा जाता है। गंगा दशहरा को लोग बहुत धूमधाम से मनाते है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, इस गंगा में डुबकी लगाने और मां गंगा को दीपदान करने की परंपरा है। इस विशेष दिन श्रद्धालु गंगा तट पर बैठकर मां गंगा की स्तुति करते है और अपने जीवन के कल्याण की प्रार्थना करते है। आइये जानते है किस दिन मनाया जाएगा गंगा दशहरा का विशेष पर्व।

पढ़ें :- 23 जून 2024 का राशिफल : सूर्यदेव की कृपा से इन राशियों चमकेगा भाग्य,धन-संपदा में होगी वृद्धि

गंगा दशहरा 2024 तारीख
ज्येष्ठ माह की शुक्ल पक्ष दशमी तिथि 16 जून की रात को शुरू होगी. शुक्ल पक्ष दशमी की शुरुआत रात 2ः32 से होगी जिसका समापन अगले दिन 17 जून को सुबह 4ः43 पर होगा। सूर्योदय तिथि को महत्व देते हुए गंगा दशहरा 16 जून को मनाया जाएगा।

गंगा दशहरा का महत्व
शास्त्रों में गंगा के बारे में वर्णन मिलता है। ऐसी मान्यता है कि भागीरथ की कठोर तपस्या के बाद स्वर्ग से धरती पर गंगा नदी अवतरित हुई हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, गंगा में स्नान करने मात्र से ही पापों से मुक्ति मिल जाती है।

गंगा दशहरा के दिन दान पुण्य का विशेष महत्व है। इस दीन हीन दुखियों को सामर्थ्य अनुसार दान करने से सभी प्रकार के रोग , दोष , भय, बाधाएं दूर होती है।

पढ़ें :- Jageshwar Dham : जागेश्वर धाम में भगवान शिव ने की थी कठिन तपस्या , भक्त यहां पहुंच कर अपना जीवन धन्य करते है
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...