1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Gyanvapi Survey: जानिए उन पांच महिलाओं के बारे में जिनकी अर्जी पर शुरू हुआ ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे?

Gyanvapi Survey: जानिए उन पांच महिलाओं के बारे में जिनकी अर्जी पर शुरू हुआ ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे?

पांच महिलाएं ने मस्जिद परिसर में श्रृंगार गौरा स्थल पर प्रार्थना की अनुमति मांगी है। इनमें कोई ब्यूटी पार्लर चलाता है तो कोई गृहिणी। सिर्फ दो महिलाएं वे हैं जिनका हिन्दू संगठनों से संबंध है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Gyanvapi Survey: वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के सर्वे का काम पूरा हो गया है। कोर्ट ने दो दिनों के अंदर सर्वे रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही कोर्ट कमिश्नर अजय मिश्रा को हटा दिया है। वहीं, आज हम जानते हैं कि ज्ञानवापी सर्वे का मामला कोर्ट तक कैसे पहुंचा। दरअसल, पांच महिलाएं ने मस्जिद परिसर में श्रृंगार गौरा स्थल पर प्रार्थना की अनुमति मांगी है। इनमें कोई ब्यूटी पार्लर चलाता है तो कोई गृहिणी। सिर्फ दो महिलाएं वे हैं जिनका हिन्दू संगठनों से संबंध है। आइए जानते हैं इन महिलाओं के बारे में…

पढ़ें :- Gyanvapi Survey: ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट में हुए कई चौंकाने वाले खुलासे, मिले ये चिन्ह?

राखी सिंह
बता दें कि, ज्ञानवापी मामले की अगुवाई दिल्ली के हौज खास की रहने वाली राखी सिंह कर रही हैं। इस पूरे मामले को ‘राखी सिंह और अन्य बनाम उत्तर प्रदेश सरकार’ नाम दिया गया है। राखी के पति का नाम इंद्रजीत सिंह है। इनका दूसरा घर लखनऊ के हुसैनगंज में है।

लक्ष्मी देवी
ज्ञानवापी मामले में दूसरी याचिकाकर्ता लक्ष्मी देवी हैं, जो वाराणसी के महमूरगंज इलाके की रहने वाली हैं। बताया जा रहा है कि, लक्ष्मी देवी के पति सोहन लाल आर्य ने भी ज्ञानवापी मामले को उठाया था। वहीं, अब इनकी पत्नी ने इस मामले को उठाया है। उन्होंने कहा कि पत्नी कभी किसी संगठन या संगठन से नहीं जुड़ी।

सीता साहू
ज्ञानवापी सर्वे में तीसरी याचिकाकार्ता सीता साहू हैं, जो ज्ञानवापी परिसर से महज दो किमी दूर चेतगंज में छोटा सा जनरल स्टोर चलाती हैं। वह भी कभी किसी संगठन या संगठन से नहीं जुड़ी। वह कहती हैं, “हम हिंदू धर्म के लिए काम कर रहे हैं और याचिका दायर की है क्योंकि हमें मंदिर में अपनी देवी की ठीक से पूजा करने की अनुमति नहीं है”।

मंजू
ज्ञानवापी मामले में चौथी याचिकाकर्ता मंजू व्यास भी वाराणसी की रहने वाली हैं। यहां उनका राम घाट में घर है। मंजू अपने घर से एक ब्यूटी पार्लर चलाती हैं और किसी भी संगठन या संगठन की सदस्य या पदाधिकारी नहीं हैं। अपने छोटे व्यवसाय के अलावा, वह अपने परिवार की देखभाल करती है।

पढ़ें :- मन्दिर-मस्जिद के मुद्दों पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने लीगल टीम बनाने का लिया निर्णय, कोर्ट में भी करेगी पैरवी

रेखा पाठक
पांचवी याचिकाकर्ता रेखा पाठक भी वाराणसी की रहने वाली हैं। रेखा का घर वाराणसी के हनुमान फाटक के पास है। वह कहती हैं कि वह अपनी देवी के लिए याचिका का हिस्सा बनीं। रेखा कहती हैं, ज्ञानवापी हम सभी के आस्था का केंद्र बिंदु है। इसपर कब्जा हुआ है। इसे छुड़ाने तक ये लड़ाई जारी रहेगी।

 

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...