1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. 15th Chief Minister of Himachal : सुखविंदर सुक्खू होंगे नए मुख्यमंत्री, पढ़िए छात्र राजनीति से सीएम बनने तक का सफर

15th Chief Minister of Himachal : सुखविंदर सुक्खू होंगे नए मुख्यमंत्री, पढ़िए छात्र राजनीति से सीएम बनने तक का सफर

हिमाचल में मुख्यमंत्री पद को लेकर जारी सस्पेंस शनिवार शाम हो आखिकार खत्म हो गया है। हिमाचल प्रदेश कांग्रेस चुनाव प्रचार समिति (Himachal Pradesh Congress Election Campaign Committee) के अध्यक्ष व नादौन विधानसभा क्षेत्र से पांचवीं बार विधायक चुने सुखविंदर सिंह सुक्खू (Sukhwinder Singh Sukhu)   प्रदेश के 15वें मुख्यमंत्री (15th Chief Minister) मनोनीति किया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। हिमाचल में मुख्यमंत्री पद को लेकर जारी सस्पेंस शनिवार शाम हो आखिकार खत्म हो गया है। हिमाचल प्रदेश कांग्रेस चुनाव प्रचार समिति (Himachal Pradesh Congress Election Campaign Committee) के अध्यक्ष व नादौन विधानसभा क्षेत्र से पांचवीं बार विधायक चुने सुखविंदर सिंह सुक्खू (Sukhwinder Singh Sukhu)   प्रदेश के 15वें मुख्यमंत्री (15th Chief Minister) मनोनीति किया है। शनिवार को विधानसभा परिसर शिमला में कांग्रेस विधायक दल की बैठक के मुख्यमंत्री पद के लिए सुखविंदर सिंह सुक्खू (Sukhwinder Singh Sukhu)  के नाम का एलान किया गया।

पढ़ें :- भ्रष्टाचार के आरोपी पूर्व कुलपति ने किया आत्मसमर्पण, भेजे गए जेल, सुप्रीम कोर्ट ने जमानत याचिका कर दी थी खारिज

हमीरपुर जिले की नादौन तहसील के सेरा गांव में 26 मार्च 1964 को जन्मे सुखविंदर सिंह सुक्खू (Sukhwinder Singh Sukhu) के पिता रसील सिंह हिमाचल पथ परिवहन निगम शिमला में चालक थे। माता संसार देई गृहिणी हैं। सुखविंदर सिंह सुक्खू (Sukhwinder Singh Sukhu)  की पहली से एलएलबी तक की पढ़ाई शिमला में ही हुई है।चार भाई-बहनों में सुखविंदर सिंह सुक्खू (Sukhwinder Singh Sukhu)  दूसरे नंबर पर हैं। बड़े भाई राजीव सेना से रिटायर हैं। दो छोटी बहनों की शादी हो चुकी है। 11 जून 1998 को सुखविंदर सिंह सुक्खू (Sukhwinder Singh Sukhu) की शादी कमलेश ठाकुर से हुई। इनकी दो बेटियां हैं जो दिल्ली विश्वविद्यालय से पढ़ाई कर रही हैं।

सुखविंदर सिंह सुक्खू (Sukhwinder Singh Sukhu)  ने एनएसयूआई से राजनीतिक जीवन की शुरुआत की। संजौली कॉलेज में पहले कक्षा के क्लास रिप्रेजेंटेटिव और स्टूडेंट सेंट्रल एसोसिएशन के महासचिव चुने गए। उसके बाद राजकीय महाविद्यालय संजौली में स्टूडेंट सेंट्रल एसोसिएशन के अध्यक्ष चुने गए। 1988 से 1995 तक एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष बने। 1995 में युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव बने।

1998 से 2008 तक युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रहे। नगर निगम शिमला के दो बार चुने हुए पार्षद बने। 2003, 2007, 2017 और अब 2022 में नादौन विधानसभा क्षेत्र से चौथी बार विधायक चुने गए। 2008 में प्रदेश कांग्रेस के महासचिव बने। 8 जनवरी 2013 से 10 जनवरी 2019 तक प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रहे। अप्रैल 2022 में हिमाचल प्रदेश कांग्रेस चुनाव प्रचार समिति (Himachal Pradesh Congress Election Campaign Committee)  के अध्यक्ष एवं टिकट वितरण कमेटी के सदस्य बने।

पढ़ें :- भारत में ट्विटर पर ब्लू टिक के लिए चुकाने होंगे इतने रुपए प्रति महीना, लगेगा सर्विस चार्ज
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...