1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. IAS Pooja Singhal को ED ने किया गिरफ्तार, जानें किस मामले में हुई है गिरफ्तारी

IAS Pooja Singhal को ED ने किया गिरफ्तार, जानें किस मामले में हुई है गिरफ्तारी

आय से अधिक संपत्ति मामले (Disproportionate Assets Case) में रांची से आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल (IAS Pooja Singhal) को ED ने रांची से गिरफ्तार कर लिया है। मनरेगा घोटाला, आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्‍टाचार के संगीन आरोपों से घिरीं झारखंड की खनन और उद्योग सचिव पूजा सिंघल पर लंबी पूछतांछ के बाद ईडी ने यह कार्रवाई की है। बता दें कि ईडी की टीम ने मंगलवार को पूजा सिंघल से 9 घंटे तक लंबी पूछताछ के बाद रात करीब 8 बजे उन्‍हें छोड़ दिया था।

By संतोष सिंह 
Updated Date

रांची। आय से अधिक संपत्ति मामले (Disproportionate Assets Case) में रांची से आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल (IAS Pooja Singhal) को ED ने रांची से गिरफ्तार कर लिया है। मनरेगा घोटाला (MGNREGA SCAM) , आय से अधिक संपत्ति और भ्रष्‍टाचार के संगीन आरोपों से घिरीं झारखंड की खनन और उद्योग सचिव पूजा सिंघल (Pooja Singhal) पर लंबी पूछतांछ के बाद ईडी ने यह कार्रवाई की है। बता दें कि ईडी की टीम ने मंगलवार को पूजा सिंघल (Pooja Singhal) से 9 घंटे तक लंबी पूछताछ के बाद रात करीब 8 बजे उन्‍हें छोड़ दिया था। इसके साथ ही की टीम ने आज यानि बुधवार को एक बार फिर पूजा सिंघल (Pooja Singhal) व उनके पति अभिषेक झा को पूछताछ के लिए रांची के ईडी दफ्तर में बुलाया था। 17 घंटे की लंबी पूछतांछ के बाद  शाम को ईडी गिरफ्तार कर लिया है।

पढ़ें :- माध्यमिक शिक्षा की मजबूती को मुख्यमंत्री देंगे 25 करोड़ रुपये का उपहार, 3 मार्च को साढ़े चार हजार विद्यार्थियों को मिलेगा स्मार्टफोन व टैबलेट

झारखंड में मनी लॉन्ड्रिंग केस (Money Laundering Case) में IAS अधिकारी पूजा सिंघल (Pooja Singhal) के करीबियों के रांची और बाकी ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापे मारे थे। छापे के दौरान ईडी को 19 करोड़ से अधिक कैश और कई अहम दस्तावेज मिले थे।

बता दें कि झारखंड में 2009-10 में मनरेगा घोटाला (MGNREGA SCAM) हुआ था। उसी मामले में कुछ दिन पहले ED ने एक साथ झारखंड, पश्चिम बंगाल, हरियाणा और राजस्थान में रेड डाली थी। तब उसी रेड के दौरान ये 19 करोड़ 31 लाख रुपये बरामद किए गए। 19 करोड़ 31 लाख रुपयों में से 17 करोड़ चार्टर्ड अकाउंटेंट अकाउंट के आवास से बरामद किए गए। बाकी रुपये एक कंपनी से मिले थे।

मनरेगा घोटाले को लेकर पूजा सिंघल ने दिया यह जवाब

सूत्रों के अनुसार पूजा सिंघल (Pooja Singhal)  से पूछताछ की शुरुआत खूंटी जिले के बहुचर्चित मनरेगा घोटाले से हुई। मनरेगा घोटाले के वक्त पूजा सिंघल (Pooja Singhal)  ही खूंटी की डीसी थी। तब मनरेगा की योजनाओं में 18 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ था। उन्होंने ईडी के अधिकारियों को बताया कि उन पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए राज्य सरकार ने एक जांच कमेटी गठित की थी। जांच कमेटी ने उन्हें उक्त मामले में क्लीन चिट दी है।

पढ़ें :- हाई कोर्ट की ​हरियाणा सरकार पर सख्त टिप्पणी, कहा- बिना पूछे न दी जाए राम रहीम को पैरोल, 10 मार्च को करे सरेंडर

पूजा सिंघल (Pooja Singhal) ने ईडी की टीम को बताया कि तब उन्होंने अपना जवाब दाखिल किया था। उसी जवाब पर आज भी कायम हूं, जवाब की कॉपी राज्य सरकार से लेकर देखी जा सकती है। पूछताछ के दौरान पूजा सिंघल (Pooja Singhal) ने मनरेगा घोटाले में अपनी संलिप्तता से इनकार किया। पूजा ने ईडी को बताया कि उन्होंने कभी राम विनोद सिन्हा या किसी दूसरे अधिकारी से पैसे नहीं लिए।

मामले में सीबीआई करेगी जांच?

पूजा से पहले उनकी सीए सुमन कुमार के खिलाफ भी ईडी की कार्रवाई हो चुकी है। वे पांच दिन की ईडी रिमांड पर जा चुकी हैं। कल उन्हें स्पेशल PMLA कोर्ट में पेश किया जाएगा। वैसे इस मामले में अरुण दुबे द्वारा झारखंड हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की गई है। उस याचिका में उन्होंने अपील की है कि पूजा सिंघल मामले की जांच सीबीआई से करवानी चाहिए। वहीं उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया है कि दूसरे कुछ और ऐसे अधिकारी हैं जिनकी संपत्ति की जांच होना जरूरी है। अपनी याचिका में उन्होंने ईडी दफ्तर की सुरक्षा बढ़ाने की भी मांग की है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...