1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. इमरान खान ने महिला जज के खिलाफ टिप्पणी पर मांगी माफी,बोले- दोबारा ऐसा नहीं होगा

इमरान खान ने महिला जज के खिलाफ टिप्पणी पर मांगी माफी,बोले- दोबारा ऐसा नहीं होगा

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Former Prime Minister of Pakistan Imran Khan) ने महिला जज के खिलाफ धमकी भरी टिप्पणी मामले में माफी मांग ली है। इमरान खान की ओर से यह माफी उस समय मांगी गई है जब कोर्ट ने पूर्व प्रधानमंत्री के खिलाफ सख्त रुख अपनाते हुए अवमानना की कार्यवाही (Contempt Proceedings) पर विचार करना शुरू कर दिया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Former Prime Minister of Pakistan Imran Khan) ने महिला जज के खिलाफ धमकी भरी टिप्पणी मामले में माफी मांग ली है। इमरान खान की ओर से यह माफी उस समय मांगी गई है जब कोर्ट ने पूर्व प्रधानमंत्री के खिलाफ सख्त रुख अपनाते हुए अवमानना की कार्यवाही (Contempt Proceedings) पर विचार करना शुरू कर दिया है। गुरुवार को ही उनके खिलाफ आरोप तय किया जाना था, लेकिन उससे पहले ही इमरान खान (Imran Khan) ने कोर्ट के सामने माफी मांग ली।

पढ़ें :- पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान की बढेंगी मुश्किलें, इस मामले में जारी हुआ गिरफ्तारी वारंट

द डॉन की रिपोर्ट (The Dawn’s Report)के मुताबिक, इमरान खान (Imran Khan)  ने महिला जज जेबा चौधरी (Judge Jeba Choudhary)  से व्यक्तिगत रूप से भी माफी मांगने का वादा दिया है। जिनके खिलाफ अगस्त में एक रैली के दौरान अपने भाषण में कथित तौर पर धमकी दी थी। इमरान खान (Imran Khan)  की ओर से माफी मांगे जाने के सात ही कोर्ट ने उनके खिलाफ अवमानना के मामले को स्थगित कर दिया।

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) पार्टी के प्रमुख ने अपनी दलील में कहा, अगर मैंने कोई सीमा लांघी हैं तो मैं मांफी मांगता हूं। ऐसा दोबारा नहीं होगा। मेरा कभी भी अदालत की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का इरादा नहीं था। रिपोर्ट के मुताबिक, खान ने अदालत को यह भी आश्वासन दिया कि वह ऐसा कृत्य फिर कभी नहीं करेंगे।

इस्लामाबाद में 20 अगस्त को एक रैली के दौरान, इमरान खान (Imran Khan)ने अपने सहयोगी शाहबाज़ गिल (Shahbaz Gill) के साथ की गई बदसुलूकी को लेकर शीर्ष पुलिस अधिकारियों, चुनाव आयोग (Election Commission)और राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ मामला दर्ज कराने की धमकी दी थी। गिल को राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

उन्होंने न्यायाधीश जेबा चौधरी (Judge Jeba Choudhary) के उस फैसले पर ऐतराज़ जताया था जिसमें उन्होंने गिल को दो दिन की हिरासत में भेजने की पुलिस की गुजारिश को स्वीकार कर लिया था और कहा था कि उन्हें तैयार रहना चाहिए, क्योंकि उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

पढ़ें :- गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के खिलाफ Income Tax Department Raid , टैक्स चोरी के आरोप में कार्रवाई

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...