1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. ग्रेटर नोएडा में बढंते प्रदुषण को देख यमुना प्राधिकरण ने लगाई सभी निर्माण कार्यो पर सात दिन की रोक

ग्रेटर नोएडा में बढंते प्रदुषण को देख यमुना प्राधिकरण ने लगाई सभी निर्माण कार्यो पर सात दिन की रोक

पिछले दिनो नोएडा, ग्रेटर नोएडा समेत दिल्ली एनसीआर में बढ़ते प्रदुषण के कारण लोगो का जीना दुष्वार कर दिया है। ऐसे में गुरुवार सुबह से ही नोएडा और ग्रेटर नोएडा में प्रदुषण के कारण धुंध छाई रही है। लोगो को आंखो में जलन का अहसास हो रहा है और जो लोग बिमार है उन्हे भी सांस लेने में परेशानी हो रही है।

By Sachin 
Updated Date

पिछले दिनो नोएडा, ग्रेटर नोएडा समेत दिल्ली एनसीआर में बढ़ते प्रदुषण के कारण लोगो का जीना दुष्वार कर दिया है। ऐसे में गुरुवार सुबह से ही नोएडा और ग्रेटर नोएडा में प्रदुषण के कारण धुंध छाई रही है। लोगो को आंखो में जलन का अहसास हो रहा है और जो लोग बिमार है उन्हे भी सांस लेने मेंपरेशानी हो रही है। ऐसे मे्रं बढ़ते प्रदुषण को देखते हुए यमुना प्राधिकरण ने जिले में चल रहे सभी निर्माण कार्यो पर अगले सात दिनो तक रोक लगा दी है।

पढ़ें :- प्रदेश में अब ठंड का सितम कम, इन शहरों में 33 डिग्री सेल्सियस रहेगा तापमान

यमुना एक्सप्रेस वे इंडस्ट्रियल डवलपमेंट अथॉरिटी की ओर से गुरुवार को बढ़ते प्रदुषण को कम करने के लिए अहम फैसला लिया गया है। इसके तहत प्राधिकरण की ओर से आदेश जारी किया गया है। जेवर में बन रहे अन्तराष्ट्रीय एयरपोर्ट की साईट पर मिट्टी की खुदाई को बंद कर दिया गया है। इसके अलावा एयरपोर्ट की अन्य साईटो पर कार्य चलते रहेगें। वही प्राधिकरण ने प्राधिकरण के दायरे में आने वाले सभी रियल स्टेट साइट, सड़को का निर्माण कार्य, किसी भी तरह का खनन, ऐसा कार्य जिससे धूल उडती हो आदि सभी इस तरह के कार्य अगले सात दिनो तक बंद कर दिये गये है।

बढ़ते प्रदुषण से नोएडा ग्रेटर नोएडा का बुरा हाल
गुरुवार सुबह को ग्रेटर नोएडा का एक्यूआई 312, नोएडा का एक्यूआई 383, गाजियाबाद का एक्यूआई 336, फरीदाबाद का एक्यूआई 373 और गुरुग्राम का एक्यूआई 319 दर्ज किया गया था। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में गुरुवार सुबह शाम तक धुंध की चादर छाई रही।

पढ़ें :- निचलौल में हो रहे 108 कुंडीय गायत्री महायज्ञ में स्काउट गाइड की भूमिका अहम

नोएडा ग्रेटर नोएडा में एक अक्टूबर से अब तक लगा 72 लाख का जुर्माना
बढ़ते प्रदुषण को देखते हुए नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने भी बुधवार को बैठक कर अधिकारियो को निर्देश दिये थे। उन्होने जिले में चल रहे सभी होट मिक्सिंग प्लांट, आरएमसी प्लांट, स्टोन क्रशर के संचालन को बंद करने के निर्देश दिए है। इसके अलावा नोएडा और ग्रेटरनोएडा में वाटर ्प्रिरंकल के लिए अतरिक्त टैंक लगाने के लिए भी कहा गया है। हाल में नोएडा में 90 ्प्रिरंकलर और 40 एंटी स्मॉग गन नोएडा में और 20 ्प्रिरंकलर टैंकर और 12 एंटी स्मॉग गन ग्रेटरनोएडा में काम कर रही है। प्राधिकरण की टीम और प्रदुषण विभाग की टीम द्वारा पिछले एक अक्टूबर से अब तक नोएडा और ग्रेटर नोएडा में
लगभग 72 लाख रुपए का जुर्माना भी विभिन्न संस्थाओ पर लगा चुकी है।

बढ़ते प्रदूषण में बरते सावधानियां
बढ़ता स्मॉग सांस के साथ शरीर के भीतर चला जाता है और बीमारी पैदा करता है। इससे धमनियों में रक्तप्रवाह भी प्रभावित होता है। फेफड़ों की क्षमता घट जाती है। मरीज को दूसरी परेशानियां भी होने लगती है। इस मौसम में अस्थमा, दमा, ब्रोकाइटिस के मरीजों को खास सावधानी बरतने की जरूरत होती है। ठंड के मौसम में नसें ज्यादा सिकुड़ती हैं और सख्त बन जाती हैं। इससे नसों को गर्म और एक्टिव करने के लिए ब्लड का फ्लो बढ़ जाता है, जिससे ब्लड प्रेशर भी बढ़ जाता है। ब्लड प्रेशर बढऩे से हार्ट अटैक होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...