1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Kaal Bhairav Jayanti 2023 : काल भैरव जयंती के दिन कर लें ये काम, शत्रु भी आपसे हाथ जोड़ेंगे

Kaal Bhairav Jayanti 2023 : काल भैरव जयंती के दिन कर लें ये काम, शत्रु भी आपसे हाथ जोड़ेंगे

Kaal Bhairav Jayanti 2023 : काल भैरव जयंती के दिन कर लें ये काम, शत्रु भी आपसे हाथ जोड़ेंगे

By अनूप कुमार 
Updated Date

Kaal Bhairav Jayanti 2023 : काल भैरव जयंती के दिन कुछ  उपाय कर लेने से जीवन की बहुत से समस्याये दूर हो जाती है। मार्गशीर्ष कृष्‍ण पक्ष की अष्‍टमी को काल भैरव जयंती होती है। यदि काल भैरव भगवान प्रसन्‍न हो जाएं तो बड़े से बड़ा शत्रु भी आपका बाल बांका नहीं कर सकते।

पढ़ें :- 22 फरवरी 2024 का राशिफलः इन राशि के लोगों को व्यापार में जोखिम उठाने से हो सकता है नुकसान

मार्गशीर्ष कृष्ण अष्टमी तिथि 4 दिसंबर 2023 की रात 9 बजकर 59 बजे शुरू होगी जो 5-6 दिसंबर 2023 की मध्‍यरात्रि 12 बजकर 37 बजे तक रहेगी। ऐसे में 5 दिसंबर के दिन काल भैरव जयंती मनाई जाएगी। इस दिन बाबा की पूजा करने का शुभ मुहूर्त सुबह 10.53 से दोपहर 01.29 बजे तक रहेगा।

मंत्र
ॐ कालभैरवाय नम:।।
ॐ भयहरणं च भैरव:।।
ॐ भ्रं कालभैरवाय फट्।।
ॐ ह्रीं बं बटुकाय आपदुद्धारणाय कुरूकुरू बटुकाय ह्रीं।।

पांच या सात नींबू की माला बनाकर बाबा भैरव को चढ़ाएं। साथ ही मंत्रों का जाप भी करें। ऐसा करने से शत्रुओं को परास्‍त किया जा सकता है। साथ ही तरक्की के रास्ते भी खुल जाते हैं।
आर्थिक तंगी को दूर करने के लिए काले कुत्ते को मीठी रोटी और गुड़ के पुए खिलाएं। ऐसा करने से आपकी सभी परेशानियां दूर होगी। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।
रोगों से छुटकारा पाने के लिए आपको सहाय लोगों को गेंहूं, गर्म कपड़ों, कंबल आदि का दान करना चाहिए। ऐसा करने से बीमारी से छुटकारा मिलता है।

पढ़ें :- Maha Shivaratri 2024 : महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर तीन पत्तियों वाले बेलपत्र चढ़ाने चाहिए , पहने सफेद वस्त्र
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...