HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. कन्हैया कुमार, बोले-‘एक बार फिर, लीकेज सरकार’, अब तो छात्रों ने सोशल मीडिया पर लिखना शुरु कर दिया

कन्हैया कुमार, बोले-‘एक बार फिर, लीकेज सरकार’, अब तो छात्रों ने सोशल मीडिया पर लिखना शुरु कर दिया

पेपर लीक, धांधली और भ्रष्टाचार NEET समेत कई परीक्षाओं का अभिन्न अंग बन गई हैं। इसकी सीधी ज़िम्मेदारी मोदी सरकार की है। अभ्यार्थियों के लिए भर्ती परीक्षाओं में भाग लेना, फिर अनेकों अनियमितताओं से जूझना, पेपर लीक के चक्रव्यूह में फंसना, उनके भविष्य से खिलवाड़ है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। पेपर लीक, धांधली और भ्रष्टाचार NEET समेत कई परीक्षाओं का अभिन्न अंग बन गई हैं। इसकी सीधी ज़िम्मेदारी मोदी सरकार की है। अभ्यार्थियों के लिए भर्ती परीक्षाओं में भाग लेना, फिर अनेकों अनियमितताओं से जूझना, पेपर लीक के चक्रव्यूह में फंसना, उनके भविष्य से खिलवाड़ है। भाजपा ने देश के युवाओं को ठगा है। हमारी मांग है कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की देखरेख में एक उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए जिससे NEET व अन्य परीक्षाओं में भाग लेने वाले हमारे प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को न्याय मिले।

पढ़ें :- NEET UG Re-Exam : नीट यूजी पुनः परीक्षा में 813 उम्मीदवार हुए शामिल, 750 अभ्यर्थी रहे अनुपस्थित

NSUI इंचार्ज कन्हैया कुमार ने कहा कि NEET की परीक्षा में फिर से धांधली हुई है। देश में ऐसी कोई परीक्षा नहीं है, जिसमें धांधली न हो। उन्होंने कहा कि छात्रों ने सोशल मीडिया पर लिखना शुरु कर दिया है कि ‘एक बार फिर, लीकेज सरकार’।

पढ़ें :- योगी सरकार पेपर लीक और सॉल्वरों के खिलाफ लाएगी नया कानून, बुलडोजर एक्शन, 1 करोड़ जुर्माना और जेल…

कन्हैया कुमार ने कहा कि चुनाव से पहले नरेंद्र मोदी परीक्षा पर चर्चा करते हैं, लेकिन चुनाव के बाद पेपर लीक और धांधली पर कोई बात नहीं होती है। उन्होंने कहा कि यही हालत रही तो आने वाले दिनों में UPSC की परीक्षा भी ठीक से नहीं हो पाएगी।

कन्हैया कुमार ने कहा कि आप देश के किसी भी स्टूडेंट सेंटर में आत्महत्या की घटनाएं समस्या बन चुकी हैं। पेपर लीक पर कड़ी कार्रवाई करने की आवश्यकता है, क्योंकि पेपर लीक माफिया छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। सरकार को कदम उठाना चाहिए। सिर्फ बयानबाजी से काम नहीं चलेगा, क्योंकि ये देश के भविष्य का सवाल है। NEET और किसी भी अन्य परीक्षा में हुईं धांधली के लिए हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में इसकी एक उच्च स्तरीय जांच हो।

कन्हैया कुमार ने कहा कि हमारी मांग है कि NEET परीक्षा से जुड़े मुद्दों की पुनर्समीक्षा की जाए। जो शिकायत कर रहे हैं, उसका समाधान किया जाए। सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच हो और जांच में गड़बड़ी पाए जाने पर दोबारा परीक्षा होनी चाहिए।

NSUI अध्यक्ष वरुण चौधरी ने कहा कि NEET परीक्षा में पेपर लीक और रिजल्ट में धांधली पर सरकार चुप है। उन्होंने कहा कि NTA शक के घेरे में है, क्योंकि पेपर लीक की बात सामने आई थी। फिर परीक्षा में जो स्कोर संभव नहीं था, वे भी छात्रों को मिले। यही नहीं, NEET का रिजल्ट जल्दबाजी में पहले ही रिलीज कर दिया गया, जिसके बारे में किसी को जानकारी नहीं दी गई। ये सारी बातें NTA पर कई सवाल खड़े करती हैं।

पढ़ें :- आसाराम सीने में दर्द की शिकायत के बाद जोधपुर एम्स में भर्ती, मिली है आजीवन कारावास की सजा
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...