1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Kanpur Violence : योगी ‘राज’ में पत्थरबाजों में खौफ, पोस्टर लगते ही सरेंडर करने पहुंच रहे हैं आरोपी

Kanpur Violence : योगी ‘राज’ में पत्थरबाजों में खौफ, पोस्टर लगते ही सरेंडर करने पहुंच रहे हैं आरोपी

Kanpur Violence : कानपुर कमिश्नरेट पुलिस (Kanpur Commissionerate Police) ने सोमवार को जिन आरोपियों की तस्वीरें जारी की थी। उसमें से एक आरोपी ने थाने जाकर सरेंडर (Surrender) कर दिया है। बताया जा रहा है कि सरेंडर (Surrender)  करने वाला संदिग्ध नाबालिग है। बता दें कि कानपुर हिंसा (Kanpur Violence) को 5 दिन बीत चुके हैं। अभी तक पुलिस ने 50 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Kanpur Violence : कानपुर कमिश्नरेट पुलिस (Kanpur Commissionerate Police) ने सोमवार को जिन आरोपियों की तस्वीरें जारी की थी। उसमें से एक आरोपी ने थाने जाकर सरेंडर (Surrender) कर दिया है। बताया जा रहा है कि सरेंडर (Surrender)  करने वाला संदिग्ध नाबालिग है। बता दें कि कानपुर हिंसा (Kanpur Violence) को 5 दिन बीत चुके हैं। अभी तक पुलिस ने 50 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। पिछले 24 घंटे के अंदर ही 12 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने सीसीटीवी (CCTV) में दिखे 40 संदिग्ध की तस्वीरें जारी की है। इसके बाद संदिग्ध खुद ही सरेंडर करने थाने पहुंच रहे हैं। सोमवार देर रात एक नाबालिग संदिग्ध ने सरेंडर किया।

पढ़ें :- Kanpur Violence: एसआईटी ने की बड़ी कार्रवाई, बाबा बिरयानी का मालिक मुख्तार बाबा गिरफ्तार

कानपुर कमिश्नरेट पुलिस (Kanpur Commissionerate Police) ने पत्थरबाजी के संदिग्धों के पोस्टर चस्पा करने के बाद आरोपियों में पुलिस का खौफ दिख रहा है। सोमवार देर रात आरोपी नाबालिग युवक ने कर्नेलगंज थाने में सरेंडर किया है। कल जारी हुए पोस्टर में इसकी तस्वीर 13वें नंबर पर थी। पुलिस ने सोमवार शाम को नाबालिग के बड़े भाई और बहनोई को हिरासत में लिया था। फिर नाबालिग ने खुद ही सरेंडर कर दिया है।

बता दें कि 3 जून को नई सड़क इलाके में पत्थरबाजों ने चंद्रेश्वर हाता में पत्थरबाजी की। मामला जुमे की नमाज के बाद दुकानों को बंद कराने का था। आरोप है कि दूसरे समुदाय के लोगों ने दुकान बंद कराने का विरोध किया तो पत्थरबाजी शुरू हो गई। इस पत्थरबाजी के दौरान न केवल आम नागरिक, बल्कि कई पुलिस वाले भी घायल हो गए।

इसके बाद पुलिस ने कई पत्थरबाजों को गिरफ्तार किया है, लेकिन कई फरार हो गए। फिर पुलिस ने पत्थरबाजी के संदिग्धों के पोस्टर छापने शुरू कर दिए हैं। फिलहाल 40 लोगों के पोस्टर जारी किए गए। पुलिस ने बाकायदा सीसीटीवी (CCTV) से छांट-छांटकर पत्थरबाजों की एक लिस्ट तैयार की। इनमें से 40 की फोटो पोस्टर बनाकर कानपुर की दीवारों पर चिपकाई गई। अभी तक जो वीडियो सामने आए है, उससे लगता है कि कानपुर हिंसा (Kanpur Violence)  में पत्थरबाजों ने जमीनी और हवाई हमले की पूरी तैयारी की थी।

3 जून को पत्थरबाजों ने जमीनी हमले के लिए ठेले का इंतजाम किया था। इन ठेलों पर बड़ी मात्रा में पत्थर रखे गए थे। इन्हीं से पत्थर उठाकर फेंके जा रहे थे। इसके अलावा ऊंची इमारतों से भी पत्थर फेंककर हवाई हमले किए जा रहे थे। इमारतों की छतों पर बड़ी मात्रा में पत्थर इकट्ठा किए गए थे। पत्थरबाजों ने जिस चंद्रेश्वर हाता (Chandeshwar Hata) को टारगेट किया था, वहां रहने वाले लोगों का आरोप है कि वो लोग यहां के हिंदू परिवारों को डराकर भगाने के लिए ऐसा कर रहे थे।

पढ़ें :- Asaduddin Owaisi : बुलडोजर गरजा तो बीजेपी पर भड़के ओवैसी, बोले- आप चीफ जस्टिस हैं क्या?

छतों से पत्थरबाजी की जानकारी के बाद पुलिस ने इस मामले की अलग जांच शुरू की है। प्रशासन इस शिकायत के बाद विकास प्राधिकरण के साथ मिलकर अवैध ऊंची इमारतों पर कार्रवाई का मन बना रहा है। फिलहाल पुलिस आरोपियों के धरपकड़ कर रही है। पुलिस के मुताबिक आरोपियों के अभी और पोस्टर आएंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...