1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Margashirsha Amavasya 2022 : मार्गशीर्ष अमावस्या पर जलाएं पीपल के नीचे दीपक , स्नान-दान का बहुत महत्व है

Margashirsha Amavasya 2022 : मार्गशीर्ष अमावस्या पर जलाएं पीपल के नीचे दीपक , स्नान-दान का बहुत महत्व है

सनातन धर्म में अमावस्या तिथि का बहुत महत्व माना जाता है। पंचांग के अनुसार, साल में कुल 12 अमावस्या तिथियां पड़ती हैं।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Margashirsha Amavasya 2022 : सनातन धर्म में अमावस्या तिथि का बहुत महत्व माना जाता है। पंचांग के अनुसार, साल में कुल 12 अमावस्या तिथियां पड़ती हैं। इन्हीं में से एक है मार्गशीर्ष माह की अमावस्या जिसे भौमवती अमावस्या के नाम से भी जाना जाता है। मार्गशीर्ष माह की अमावस्या के दिन पूजा-पाठ के साथ अनुष्ठान करने से कृष्ण कृपा होती है। मार्गशीर्ष की अमावस्या के दिन पवित्र नदियों में स्नान करने और दान करना बेहद शुभ फलदायी माना गया है। मार्गशीर्ष की अमावस्या के दिन कालसर्प दोष निवारण, पितृदोष निवारण आदि के लिए भी उत्तम माना गया है।

पढ़ें :- Akshaya Tritiya 2024 : वर्ष 2024 में अक्षय तृतीया इस दिन पड़ेगी , नई शुरूआत के लिए शुभ मुहूर्त है

हिंदू पंचांग के अनुसार इस साल मार्गशीर्ष अमावस्या की शुरुआत 12 दिसंबर 2023 को 6 बजकर 25 पर होगी और इसका समापन 13 दिसंबर 2023 को 5 बजकर 03 मिनट पर होगा। मार्गशीर्ष अमावस्या 12 दिसंबर दिन मंगलवार को है, इस दिन गंगा स्नान और दान करना काफी अच्छा माना जाता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...