1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Mission 2024 : RLD अध्यक्ष जयंत चौधरी ने NDA से जुड़ने की चर्चाओं पर लगाया विराम,बोला सीधा अटैक-हम जोड़ रहे,वे तोड़ रहे

Mission 2024 : RLD अध्यक्ष जयंत चौधरी ने NDA से जुड़ने की चर्चाओं पर लगाया विराम,बोला सीधा अटैक-हम जोड़ रहे,वे तोड़ रहे

रालोद (RLD) के एनडीए (NDA) में जाने की चर्चाओं को लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी (RLD President Jayant Chaudhary) अब हर जगह सफाई देते फिर रहे हैं। अब उन्होंने राजस्थान के धौलपुर में किसान सम्मेलन (Kisan Sammelan) में कहा कि ऐसी कोई मिठाई नहीं बनी है जो जिसको खाकर लोकदल का फैसला बदल जाए।

By संतोष सिंह 
Updated Date

बागपत । रालोद (RLD) के एनडीए (NDA) में जाने की चर्चाओं को लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी (RLD President Jayant Chaudhary) अब हर जगह सफाई देते फिर रहे हैं। अब उन्होंने राजस्थान के धौलपुर में किसान सम्मेलन (Kisan Sammelan) में कहा कि ऐसी कोई मिठाई नहीं बनी है जो जिसको खाकर लोकदल का फैसला बदल जाए।

पढ़ें :- Lok Sabha Election 2024 : जयंत चौधरी ने विधायकों के साथ की बैठक, सीट बंटवारे को लेकर जानिए क्यो बोले?

किसान जिद्दी होता है, मेरे लिए रोटी और चटनी ही दावत की तरह है

जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) ने वहां कहा कि मुझे लोग दावत देना चाहते हैं, लेकिन मैं किसान के परिवार से हूं और किसान जिद्दी होता है। मेरे लिए रोटी और चटनी ही दावत की तरह है। इसके बाद जयंत ने कहा कि मिठाई बहुत लोगों को पसंद होती है, लेकिन ऐसी मिठाई कोई नहीं बनी जो लोकदल ने फैसला लिया है, उस मिठाई से बदल जाए। उन्होंने कहा कि लोकदल का कार्यकर्ता कभी विचलित नहीं होता है और आप विचलित मत होना। लोग खुद ही विश्लेषण करते हैं, जबकि उन विश्लेषण करने वालों से मेरी मुलाकात तक नहीं हुई।

बच्चे को स्कूल में पिटवाने के वायरल वीडियो का जिक्र कर कहा कि गले मिलो, भूल जाओ, लेकिन फिर ऐसा नहीं होगा

मुजफ्फरनगर में बच्चे को स्कूल में पिटवाने के वायरल वीडियो का जिक्र करते हुए कहा कि गले मिलो, भूल जाओ, लेकिन फिर ऐसा नहीं होगा। इसका कुछ नहीं पता है। वक्त आ गया है कि इन चीजों से मुंह न मोड़ो। कुछ लोग युवाओं को मायाजाल में फंसाकर उनको प्रयोग कर रहे हैं, उनको सही रास्ता दिखाना हमारा काम है।

पढ़ें :- इंडिया गठबंधन को एक और बड़ा झटका, आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी एनडीए में हुए शामिल

कहा कि अपने माता-पिता से ज्यादा शिक्षक की बात मानते हैं और उन पर विश्वास करते हैं, लेकिन यहां एक बच्चे को दूसरे बच्चों से पिटवाया जा रहा है। उस परिवार से बात हुई। बच्चे के पिता ने कहा कि हम नहीं चाहते कि हमारे गांव में कोई झगड़ा हो। इससे पता चलता है, जहां इंडिया के घटक दल के विधायक हैं, वहां आज भी ऐसे विचार जिंदा हैं। वह तोड़ने का काम करते हैं और हम जोड़ने का करते हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...