1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. कोरोना का नया वेरिएंट 2020 के मुकाबले है ज़्यादा चालाक, बरतें सावधानी : डॉ. वीके पॉल

कोरोना का नया वेरिएंट 2020 के मुकाबले है ज़्यादा चालाक, बरतें सावधानी : डॉ. वीके पॉल

देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर कमजोर पड़ रही है। इसी बीच विशेषज्ञ बता रहे हैं कि कोरोना वायरस का नया वेरिएंट 2020 के मुकाबले ज़्यादा चालाक हो गया है। सदस्य- स्वास्थ्य, नीति आयोग डॉ. वीके पॉल ने बताया कि अब हमें ज्यादा सावधानी बरतने की ज़रूरत है। हमें ज्यादा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करना होगा। मास्क लगातार पहने रखना होगा। इसके बिना परिस्थिति फिर खराब हो सकती है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर कमजोर पड़ रही है। इसी बीच विशेषज्ञ बता रहे हैं कि कोरोना वायरस का नया वेरिएंट 2020 के मुकाबले ज़्यादा चालाक हो गया है। सदस्य- स्वास्थ्य, नीति आयोग डॉ. वीके पॉल ने बताया कि अब हमें ज्यादा सावधानी बरतने की ज़रूरत है। हमें ज्यादा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करना होगा। मास्क लगातार पहने रखना होगा। इसके बिना परिस्थिति फिर खराब हो सकती है।

पढ़ें :- केरल में कोरोना हुआ कंट्रोल से बाहर, अब मोदी सरकार की टीम संभालेगी मोर्चा

बता दें कि देश में कोरोना केसों को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मंगलवार को कहा कि अभी देश में 9 लाख के लगभग एक्टिव केस बने हुए हैं। 20 प्रदेशों में 5,000 से कम एक्टिव केस हैं। अन्य प्रदेशों में भी एक्टिव मामलों में कमी आ रही है। रिकवरी दर भी बढ़ रही है। बीते 24 घंटे में देश में 1,17,525 रिकवरी हुई है।

साथ ही कहा कि कोरोना के प्रतिदिन के मामलों में तकरीबन 85 फीसदी की गिरावट देखी गई है। हम 75 दिनों के पश्चात् ये स्थिति देख रहे हैं, जो संक्रमण दर में गिरावट का संकेत है। 1-10 वर्ष के आयु श्रेणी में 3.28 फीसदी बच्चे पहली लहर में कोरोना से संक्रमित हुए जबकि दूसरी लहर के चलते ये संख्या 3.05 फीसदी थी। इसके अतिरिक्त 11-20 वर्ष के आयु वर्ग में 8.03 फीसदी बच्चे पहली लहर व 8.5 फीसदी बच्चे दूसरी लहर में संक्रमित हुए।

आगे कहा कि अब तक देश में कुल 26 करोड़ से अधिक व्यक्तियों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि कोरोना संक्रमण के खिलाफ जंग में टीकाकरण एक अतिरिक्त उपकरण है। मैं सभी से स्वच्छता को प्राथमिकता देने तथा मास्क पहनने और सामाजिक दुरी सहित कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील करता हूं। साथ ही जितना हो सके यात्रा से बचें।

पढ़ें :- कोविड-19 महामारी में अनाथ सभी बच्चों को योजनाओं का लाभ मिले : सुप्रीम कोर्ट
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...