1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Nitin Gadkari का बड़ा व्यंग्य बोले- मंत्री हो या मुख्यमंत्री, उन्हें पता नहीं कि वे कब तक पद पर रहेंगे?

Nitin Gadkari का बड़ा व्यंग्य बोले- मंत्री हो या मुख्यमंत्री, उन्हें पता नहीं कि वे कब तक पद पर रहेंगे?

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने भाजपा सहित सभी राजनेताओं पर बड़ा तंज कसा है। उन्होंने सोमवार को कहा कि आज हर नेता, विधायक दुखी हैं कि वह मंत्री नहीं बन पा रहे हैं। मंत्री इसलिए दुखी हैं कि उन्हें अच्छा विभाग नहीं मिला है। इसके अलावा जिन मंत्रियों को अच्छा विभाग मिला है। वह इसलिए दुखी हैं कि वे मुख्यमंत्री नहीं बन पाए और मुख्यमंत्री दुखी रहते हैं कि उन्हें पता नहीं रहता कि वे कब तक पद पर रहेंगे?

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने भाजपा सहित सभी राजनेताओं पर बड़ा तंज कसा है। उन्होंने सोमवार को कहा कि आज हर नेता, विधायक दुखी हैं कि वह मंत्री नहीं बन पा रहे हैं। मंत्री इसलिए दुखी हैं कि उन्हें अच्छा विभाग नहीं मिला है। इसके अलावा जिन मंत्रियों को अच्छा विभाग मिला है। वह इसलिए दुखी हैं कि वे मुख्यमंत्री नहीं बन पाए और मुख्यमंत्री दुखी रहते हैं कि उन्हें पता नहीं रहता कि वे कब तक पद पर रहेंगे?

पढ़ें :- माध्यमिक शिक्षा की मजबूती को मुख्यमंत्री देंगे 25 करोड़ रुपये का उपहार, 3 मार्च को साढ़े चार हजार विद्यार्थियों को मिलेगा स्मार्टफोन व टैबलेट

यह बात नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने विधानसभा में ‘संसदीय लोकतंत्र और जन अपेक्षायें’ विषय पर आयोजित एक वेबिनार में कही। उन्होंने उल्लेख करते हुए कहा ​कि जाने-माने व्यंग्यकार शरद जोशी (Sharad Joshi) ने लिखा था, ‘जो राज्यों में काम के नहीं थे, उन्हें दिल्ली भेज दिया। जो दिल्ली में काम के न थे, उन्हें राज्यपाल बना दिया और जो वहां भी काम के नहीं थे, उन्हें राजदूत बना दिया।

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के अध्यक्ष रहते हुए उन्हें कोई ऐसा नहीं मिला जो दुखी न हो। नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कहा कि मुझसे एक पत्रकार ने पूछा कि आप आनंदित कैसे रहते हो, मैंने कहा कि मैं भविष्य की चिंता नहीं करता, जो भविष्य की चिंता नहीं करता, वह खुश रहता है। गडकरी ने कहा कि वन डे क्रिकेट की तरह खेलते रहो। मैंने सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर से चौके-छक्के लगाने का राज पूछा तो वे बोले, यह स्किल है। इसी तरह राजनीति भी एक स्किल है।

बता दें कि नितिन गडकरी (Nitin Gadkari)  का तंज हाल ही में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी (Gujarat Chief Minister Vijay Rupani) को हटाकर भूपेन्द्र पटेल (Bhupendra Patel) को मुख्यमंत्री बनाने को लेकर भी हो सकता है। भाजपा ने उत्तराखंड और कनार्टक में भी कुछ दिनों पूर्व मुख्यमंत्री बदले गए हैं। कांग्रेस शासित राज्यों में भी पद पाने को लेकर खींचतान चल रही है। राजस्थान और पंजाब में पिछले कुछ महीनों में कांग्रेस नेताओं के बीच तो काफी जोर-आजमाइश देखने को मिली है।

पढ़ें :- हाई कोर्ट की ​हरियाणा सरकार पर सख्त टिप्पणी, कहा- बिना पूछे न दी जाए राम रहीम को पैरोल, 10 मार्च को करे सरेंडर
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...