HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Opposition Meet : AAP का अल्टीमेटम, कहा- केंद्र के अध्यादेश के खिलाफ कांग्रेस साथ दे, वर्ना बैठक में नहीं आएंगे

Opposition Meet : AAP का अल्टीमेटम, कहा- केंद्र के अध्यादेश के खिलाफ कांग्रेस साथ दे, वर्ना बैठक में नहीं आएंगे

विपक्षी एकता की बैठक  पटना में शुक्रवार को  होनी है। इससे पहले AAP के अल्टीमेटम ने अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal)  के आने पर संशय खड़ा कर दिया है। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से गुरुवार को बताया कि AAP ने केंद्र सरकार के अध्यादेश के खिलाफ कांग्रेस को साथ देने के लिए कहा है। पार्टी ने कहा कि अगर कांग्रेस हमारा साथ नहीं देती है तो हम विपक्ष की मीटिंग में शामिल नहीं होंगे।

By संतोष सिंह 
Updated Date
पटना। विपक्षी एकता की बैठक  पटना में शुक्रवार को  होनी है। इससे पहले AAP के अल्टीमेटम ने अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal)  के आने पर संशय खड़ा कर दिया है। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से गुरुवार को बताया कि AAP ने केंद्र सरकार के अध्यादेश के खिलाफ कांग्रेस को साथ देने के लिए कहा है। पार्टी ने कहा कि अगर कांग्रेस हमारा साथ नहीं देती है तो हम विपक्ष की मीटिंग में शामिल नहीं होंगे।
बुधवार को भी अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) समेत सभी पार्टियों को चिट्‌ठी लिखकर कहा था कि मीटिंग में सबसे पहले केंद्र के अध्यादेश पर चर्चा होनी चाहिए। दिल्ली का अध्यादेश एक प्रयोग है, यह सफल हुआ तो केंद्र सरकार गैर भाजपा राज्यों के लिए ऐसे ही अध्यादेश लाकर राज्य सरकारों का अधिकार छीन लेगी।

पढ़ें :- नीतीश कुमार इस्तीफा दें, हम  बिहार को विशेष राज्य का दर्जा लेकर रहेंगे : लालू प्रसाद यादव
आम आदमी पार्टी (AAP)के बयान पर कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित (Sandeep Dikshit) ने कहा कि हमें पहले से पता था कि केजरीवाल मीटिंग में न आने का बहाना ढूंढ रहे हैं। आपको ऊपर से आदेश मिले होंगे। बैठक में आप जाएं या न जाएं इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। कोई भी आपको मिस नहीं करेगा।
6 राज्यों के मुख्यमंत्री और 5 पूर्व मुख्यमंत्री होंगे शामिल
भाजपा के खिलाफ विपक्षी एकता की बैठक शुक्रवार को पटना में मुख्यमंत्री आवास में होगी। इसमें शामिल होने के लिए गैर भाजपा दलों के नेता आज से जुटना शुरू हो गए हैं। इसमें नीतीश कुमार के साथ एमके स्टालिन, ममता बनर्जी, अरविंद केजरीवाल समेत 6 राज्यों के मुख्यमंत्री और 5 पूर्व मुख्यमंत्री शामिल होंगे। बैठक में न्यूनतम साझा कार्यक्रम तय हो सकता है। बातचीत का मुख्य एजेंडा यह हो सकता है कि भाजपा और उसके सहयोगियों के खिलाफ संयुक्त विपक्ष का एक ही उम्मीदवार खड़ा किया जाए। भाजपा हराओ का प्रस्ताव पारित हो सकता है।

ये नेता पटना पहुंच गए
PDP सुप्रीमो महबूबा मुफ्ती सुबह और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शाम 4.20 बजे पर पटना पहुंच चुकी है। शिक्षा मंत्री प्रोफेसर चंद्रशेखर, मंत्री लेसी सिंह, जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, उनको एयरपोर्ट पर रिसीव करने पहुंचे थे। ममता बनर्जी राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मुलाकात करेंगी। 23 जून की मीटिंग में शामिल होने के बाद वो शाम 4 बजे कोलकाता के लिए रवाना हो जाएंगी। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन, भाकपा महासचिव डी.राजा तथा भाकपा माले महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य गुरुवार को आएंगे। राजकीय अतिथिशाला में रुकेंगे।

राहुल गांधी सदाकत आश्रम जाएंगे
कांग्रेस प्रेसिडेंट मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी शुक्रवार को पटना पहुंचेंगे। जानकारी के मुताबिक, पटना पहुंचने के बाद दोनों सदाकत आश्रम जाएंगे। वहां वे भीमराव अंबेडकर की मूर्ति का लोकार्पण करेंगे। इसके बाद विपक्षी दलों की मीटिंग में शामिल होंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...