HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. लोकतांत्रिक मूल्यों को खत्म कर रही है बीजेपी : शिवपाल यादव

लोकतांत्रिक मूल्यों को खत्म कर रही है बीजेपी : शिवपाल यादव

यूपी में राज्यसभा की 10 सीटों पर जारी मतदान के बीच समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने बड़ा बयान​ दिया है। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के तीनों प्रत्याशी जीतेंगे। जो दूसरों के लिए काटा बोते हैं या गड्ढे खोदते हैं वे खुद ही उसमें गिरते हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। यूपी में राज्यसभा की 10 सीटों पर जारी मतदान के बीच समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने बड़ा बयान​ दिया है। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के तीनों प्रत्याशी जीतेंगे। जो दूसरों के लिए काटा बोते हैं या गड्ढे खोदते हैं वे खुद ही उसमें गिरते हैं। अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)  ने कहा कि भाजपा (BJP) चुनाव जीतने के लिए कुछ भी कर सकती है,जिन्हें कुछ लाभ मिलना होगा वे चले(भाजपा की तरफ) जाएंगे।

पढ़ें :- अखिलेश यादव ने महंत राजू दास की सुरक्षा हटाए जाने पर भाजपा को दी नसीहत, बोले- हार का बदला न लें अयोध्या के साधु-संतों से

विधायकों के पाला बदलने को लेकर अब सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)  ने कहा कि दबाव तो हरेक पर बनाया जाता है। बीजेपी जीतने के लिए कोई भी हथकंडा अपनाएगी। उन्होंने कहा कि हरेक में यह साहस नहीं होता कि वह सरकार के खिलाफ खड़ा हो जाए। सरकार के खिलाफ वोट करने के लिए हिम्मत की जरूरत होती है। सपा प्रमुख ने आगे कहा कि किसी को मंत्री पद का ऑफर दिया गया होगा तो किसी को कुछ और। मैंने तो पैकेज की बात भी सुनी है। कुछ पैकेज ऐसे भी होते हैं जो दिखते नहीं हैं। उन्होंने ये भी कहा कि कुछ लोगों को डराया-धमकाया गया होगा। कुछ लोगों से यह भी कहा गया होगा कि तुम्हारा ये पुराना मुकदमा है, इसकी फाइल खोल देंगे। अखिलेश यादव ने आगे कहा कि दिल्ली से फोन आएगा तो कौन मना करेगा?

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के नेता शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) ने भाजपा पर लोकतांत्रिक मूल्यों को खत्म करने का आरोप लगया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी (BJP) खरीद फरोख्त करके सपा विधायकों का वोट लेना चाहती है । समझ नहीं आता कि बीजेपी (BJP) को वोट ख़रीदने की आवश्यकता क्यों पड़ गई?

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...