1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. संसद अगर अहंकारी और अड़ियल हो तो देश में जनक्रांति निश्चित : राकेश टिकैत

संसद अगर अहंकारी और अड़ियल हो तो देश में जनक्रांति निश्चित : राकेश टिकैत

देश में तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। प्रदर्शनकारी किसानों ने साफ किया है कि वह इस मॉनसून सत्र के दौरान भी संसद के बाहर अपनी आवाज उठाएंगे।भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने मंगलवार को कहा कि किसानों का आंदोलन जारी रहेगा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। देश में तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। प्रदर्शनकारी किसानों का कहना है कि वह इस मॉनसून सत्र के दौरान भी संसद के बाहर अपनी आवाज उठाएंगे।

पढ़ें :- किसान आंदोलन पर UP BJP's tweet, ओ भाई जरा संभल कर जइयो लखनऊ में...

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने मंगलवार को कहा कि किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। राकेश टिकैत ने मीडिया से कहा कि ‘सरकार बातचीत करने की इच्छुक नहीं है। हम 22 जुलाई को संसद के बाहर जाकर बैठेंगे। 200 लोग वहां रोज जाएंगे।’ राकेश टिकैत ने अपने ट्विटर हैंडल से एक पोस्टर जारी करते हुए लिखा कि ‘संसद अगर अहंकारी और अड़ियल हो तो देश में जनक्रांति निश्चित होती है।

पढ़ें :- Pegasus : सरकार के खिलाफ विपक्ष का हल्लाबोल, राहुल गांधी ने पूछा- जासूसी मुद्दे पर सरकार सदन में दे जवाब

जो पोस्टर राकेश टिकैत ने जारी किया है उस पर लिखा हुआ है कि किसान 22 जुलाई को संसद के बाहर प्रदर्शन करेंगे। इस पोस्टर में संसद भवन की फोटो लगाई गई है, साथ ही एक ओर गेंहू की बालियां भी दिखाई गई है। उसके नीचे बैकग्राउंड में किसानों का विरोध प्रदर्शन करते हुए फोटो भी लगाया गया है। इसी पोस्टर में प्रदर्शन की तारीख 22 जुलाई लिखी गई है, सबसे नीचे हैशटैग करते हुए किसानों का संसद भवन पर प्रदर्शन लिखा गया है। बता दें कि संसद का मॉनसून सत्र 19 जुलाई से शुरू हो रहा है। संसद के अंदर भी किसानों के मुद्दों पर विपक्षी सांसदों का हंगामा देखने को मिल सकता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...